ilaj Treatment in Hindi

100% पेट में कीड़े का इलाज – दवा और घरेलु उपाय इन हिंदी

कीड़े मारने का उपाय इलाज – stomach worms treatment – पेट में कीड़े होने से पेट दर्द, चहरे पर धब्बे बनना, पाचन शक्ति बिगड़ जाना, भूख नहीं लगना, सिर दर्द होना, पेट दर्द, दस्त लगना आदि. पेट में कीड़े होने के बहुत से लक्षण और कारण होते है. (पेट के कीड़े कैसे मारे) वैसे सामान्यतः यह शिकायत छोटे बच्चों को होती हैं.

और यह कोई छोटी सी बीमारी नहीं हैं, हां इसका रूप छोटा सा हैं लेकिन यह बच्चे के शरीर को बहुत नुकसान पहुंचाता हैं. (यहां बताये जा रहे आयुर्वेदिक नुस्खे पेट के कीड़े मारने का दवा से भी बेहतर हैं. यानी ये उपाय दवाई की तरह ही काम करेंगे.

जब ज्यादा समय तक यह कीड़े पेट में बने रहते हैं तो बच्चे/रोगी की पाचन शक्ति विकृत होने लगती हैं, जिससे उसका पाचन सही ढंग से नहीं हो पाता, वह जो भी खाना खाता हैं वह उसके शरीर को नहीं लग पाता. उस भोजन के सारे पोषक तत्वों को यह कीड़े निचोड़ लेते हैं. इसलिए बच्चों में पेट के कीड़े का घरेलु इलाज तुरंत करवा लेना चाहिए इन हिंदी में. the best ayurvedic and natural home treatment of stomach worms.

पेट में कीड़े होने के लक्षण Symptoms 

pet mein keede, pet ke keede ka ilaj in hindi, pet me kide ka ilaj

पेट में कीड़े का इलाज इन हिंदी में दवा और घरेलु उपाय से

नाख़ून छोटे रखे – ज्यादातर देखने को मिलता हैं की बच्चे व बड़े सभी अपने नाख़ून बड़े रखते हैं, यह एक फैशन सा हो गया हैं. लेकिन ऐसा करने से शरीर को बहुत ही नुकसान होता हैं. कई तरह की बीमारियां होने की सम्भावना बढ़ जाती हैं. क्योंकि जब भी हम अपने हाथो से किसी वस्तु को छूते हैं तो उस वस्तु पर लगे बैक्टीरिया हमारे हाथो व नाख़ून में प्रवेश कर जाते हैं और अगर ऐसे में नाख़ून बड़े होंगे तो वह बैक्टीरिया नाख़ून में ही बस जायेंगे. ऐसे आपके हाथ धोने पर भी यह नहीं निकलेंगे. और फिर जब आप भोजन आदि कुछ भी खाएंगे तो यह बैक्टीरिया नाख़ून के जरिये भोजन में मिलकर आपके मुंह में चले जायेंगे. जिससे पेट दर्द, पेट में कीड़े आदि रोग उत्पन्न होने लगते हैं.

रसोई में साफ सफाई – घर में चाहे जो भी रसोई बनाता हो उससे कहे की वह पूरी साफ़ सफाई का ध्यान रखे. भोजन खाने, भोजन पकाने, साग-सब्जी आदि सभी चीजों को एक बार धोकर ही काम में लें. क्योंकि ज्यादा देर तक खुली हवा में पड़ी हुई किसी भी वस्तु पर बैक्टीरिया आकर बैठ जाते हैं. इसलिए खाने की चीजों को ढँक कर रखे व उपयोग करने से पहले उन्हें धोये साफ़ करे.

पालतू हैं जानवर से सावधान – अगर आपके घर में कोई कुत्ता, बिल्ली, चूहा आदि कोई सा भी पालतू जानवर हैं तो आपको और भी सचेत रहना चाहिए. क्योंकि एक बार बताई गई बातों को नजरअंदाज करने पर आपको ज्यादा नुकसान नहीं होगा लेकिन अगर पालतू जानवर के बारे में साफ़ सफाई न बरती गई तो इसका नुकसान आपको बहुत ही भारी पढ़ सकता हैं. याद रखे – हमेशा पालतू जानवर को खिलाने के बाद या उस पर हाथ लगाने के बाद तुरंत हाथ धोये. साफ़ सफाई पर पहले ध्यान दें.

पेट के कीड़े मारने की दवा अल्बेंडाजोल

pet ke keede ki medicine, पेट के कीड़े की दवा

यह टेबलेट बच्चों बड़ों दोनों के लिए रामबाण हैं, कुछ ही दिनों के प्रयोग से पेट के कीड़े साफ़ हो जायेंगे. आप इस दवा को किसी भी मेडिकल स्टोर पर जाकर खरीद सकते हैं. अपनी आत्मसंतुष्टि के लिए आप दुकानदार से एक दवा के उपयोग के बारे में जानकारी भी ले सकते हैं.

बच्चों को इसकी आधी टेबलेट दें और बड़ों को पूरी टेबलेट सेवन कराये. यह 100% फायदेमन्द मेडिसिन हैं जो की कीड़ों को तुरंत मारती हैं.

बच्चों के पेट में कीड़े होने की वजह – इसके पीछे सफाई से खाना नहीं खाना, pencil, मिटटी, गंधी चीजों का सेवन करना होता है, चॉकलेट्स खाना, ज्यादा होटल की चीजों का सेवन, बासी डेरी चीजों का सेवन आदि ऐसी चीजों का सेवन करने से पेट में कीड़े पैदा हो जाते है और फिर यह पेट में जलन और पेट दर्द पैदा करते है. (यह नुस्खे पेट में कीड़े की मेडिसिन (पेट के कीड़े मारने की दवा) से भी ज्यादा असरदार होते है, हमने यहां बहुत ही आसान नुस्खे भी बताये हैं. आप परिक्षण के रूप में उन नुस्खों को कर के देख सकते हैं) अगर आपका बच्चा रात को सोते समय अपने दांत पिस्ता दिखाई दे तो समझ लेना की उसके पेट में कीड़े हैं.

मीठा खाना बंद करे – अगर आपको या आपके बच्चे के पेट में ज्यादा ही कीड़े हैं तो उन्हें चॉकलेट खिलाना बिलकुल ही बंद कर दें. चॉकलेट्स मीठी होती हैं और मीठी चीजें पेट में कीड़े पैदा करती हैं. अगर आप उसे चॉकलेट खिलाते रहे तो इससे आप चाहे जिससे पेट के कीड़े का इलाज करले वह ठीक नहीं होगा. इसलिए मीठा खाने पर प्रतिबन्ध लगाए.

पेट के कीड़े मारने के घरेलु उपाय आयुर्वेदिक इलाज

दादी मा के पेट के कीड़े इलाज के लिए घरेलु नुस्खे के बारे में detail में पड़ने के लिए निचे दिए गए सभी नुस्खे पड़े. और एक बार में एक ही घरेलु नुस्खे से पेट के कीड़े का उपचार ट्रीटमेंट करे ताकि कोई नुकसान न हो.

pet me keede ka ilaj

क्या आपके पेट में दर्द होता हैं तो यह जरूर पड़ें –  Pet Dard ke 10 Gharelu Nuskhe

2 बड़े लाल टमाटरों को काटकर, सेंधा नमक और पीसी हुई कालीमिर्च लगाकर खाली पेट शाम 4 बजे के करीब, दिन में एक बार 2-3 सप्ताह तक जरुरत के हिसाब से खिलाये. टमाटर खाने से 2 घंटे पहले और 2 घंटे बाद तक कुछ भी नहीं खाये पिए. जरुरत लगने पर सिर्फ पानी पि सकते है. और फिर 2 घंटे बाद खाना खाया जा सकता हैं. इससे पेट के सभी कीड़े ख़त्म हो जाएंगे, बच्चों और बड़ों का स्वास्थ्य ठीक बनेगा.

अजवाइन का चूर्ण बनाकर आधा ग्राम लेकर उतने ही गुड़ (Jaggery) में गोलियां बनाकर दिन में 3 बार खिलाने से सभी तरह के पेट के कीड़ें मर जाते हैं.

आधा ग्राम अजवाइन के चूर्ण में चुटकी भर काला-नमक मिलाकर रात के समय रोजाना गर्म पानी से देने से बच्चों का कृमि रोग ठीक हो जाता हैं.

पेट के कीड़े का आयुर्वेदिक देसी इलाज

बेइडिंग, सेंधा नमक, हरड़, निशोथ, पीपल और भुनी हुई हींग बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें. 3 माशा की मात्रा में यह चूर्ण सुबह-शाम खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं.

सुबह के समय उठने के just बाद ही 2 तोला गुड़ (Jaggery) खाये, ऊपर से एक माशा खुरशानि अजवाइन का चूर्ण खाने से पेट के कीड़े मरकर निकल जाते हैं. यह पेट के कीड़े ख़त्म करने का आसान देसी उपाय है.

3 माशा छिला हुआ कमीला दही में मिलाकर खाने से पेट के कीड़ें मरकर बाहर निकल जाते हैं.

केवल आधा ग्राम अजवाइन का चूर्ण मट्ठे या छाछ के साथ देने से बच्चों का कृमि रोग खत्म हो जाता हैं. बड़ों को 125 ग्राम मट्ठे या छाछ के साथ उपरोक्त चूर्ण सेवन करना चाहिए. प्राकृतिक कृमि रोग का उपाय

5-7 पपीते के बीज ताजे पानी के साथ खाने से 5 दिन में पेट के सब कीड़े ख़त्म हो जाते हैं.

एक सप्ताह तक कच्ची गाजर खाते रहने से पेट के कीड़ों का सफाया हो जाता हैं, यह कीड़े मारने का काफी सरल नुस्खा हैं. (दादी मा के पेट के कीड़े मारने के लिए रामबाण आयुर्वेदिक नुस्खे)

10 ग्राम नीबू के पत्तों का रस (अर्क) में 10 ग्राम शहद मिलाकर पिने से 15-20 दिन में पेट के सभी कीड़े मर जाते हैं.

कमीला, बेइडिंग, और धाक के बीज 10-12 ग्राम लेकर चूर्ण बना लें. एक साल पुराने गुड़ (Jaggery) में यह चूर्ण मिलाकर रख लें. 6 ग्राम दवा सुबह के समय गरम पानी के साथ खाते रहने से पेट के कीड़े मर जाते हैं.

घरेलु उपचार नुस्खे

छोटी दुग्दी का चूर्ण खाने से बच्चों के पेट के कीड़ों का नाश हो जाता है. यह बच्चों के पेट के कीड़े “stomach worms” का देसी इलाज है.

नारंगी के सूखे छिलके और बेइडिंग बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बनालें. 3 ग्राम चूर्ण गरम पानी के साथ खाने से पेट के कीड़े समाप्त हो जाते है.

बेइडिंग और कमीला 20-20 ग्राम लेकर उनका चूर्ण बना लें. बच्चों को आधा ग्राम और बड़ों को 2 ग्राम की मात्रा में चूर्ण दही (Curd) या गरम दूध के साथ देने से कृमि (कीड़े) मर कर पेट से बाहर निकल जाते हैं. यह पेट के कीड़े की दवा बहुत उपयोगी है.

चंपा के ताजा पत्तों का रस (20 ग्राम) पिने से पेट के कीड़े (Fresh होते समय) शौच करते समय निकल जाते हैं. यह कीड़े का आसान घरेलु इलाज और उपाय है. सिर्फ चंपा के ताज़ा पत्तों (Leaves) का जूस पीना है, यह छोटा सा नुस्खा बहुत ही रामबाण परिणाम देता हैं.

भोजन के पहले रोजाना 1/2 माशा नमक फांक लेने से पेट के कीड़े नहीं रहते. सभी मर जाते हैं.

नीम के पत्तों का रस को शहद में मिलाकर पिने से पेट के सभी कीड़े मर जाते हैं. यह पेट के कीड़ों के लिए कड़वा घरेलु उपाय हैं इससे और भी लाभ होंगे.

अंकोल (tree) की जड़ (Root) की छाल खाने से पेट के कीड़ों को मारने में आसानी होती हैं.

सूरज-मुखी के 3/4 माशा बीजों को पीसकर खाने से पेट के कीड़े ख़त्म होने के साथ-साथ हमेशा पेट में रहने वाला दर्द भी खत्म हो जाता है.

स्वदेशी घर का वेद्द

जीरे का क्वाथ (काढ़ा) बनाकर पिने से भी पेट के कीड़े का इलाज होता हैं, सभी कीड़े मरकर ख़त्म हो जाते हैं.

शहतूत की छाल का क्वाथ बनाकर पिने से पेट के कीड़े मर जाते है.

शहतूत और खट्टे अनारों के छिलकों (2-2 तोला) को पानी में उबालकर पिने से पेट के कीड़े खत्म हो जाते हैं.

7-9 माशा नमक का पानी पिने से पेट के केचुए निकल जाते हैं.

नारियल का खोपश खाने से पेट के चपटे कीड़े मर जाते है.

निर्मली के बीज पानी में पीसकर नाभि के चारों और लेप करने से कृमि (कीड़े) मर जाते है.

1/2 तोला सुपारी का चूर्ण दूध और मक्खन के साथ लेने से पेट के सभी कीड़े ख़त्म हो जाते है.

नीबू के बीजों के चूर्ण की फांकी लेना ही कीड़ों के विनाश की निशानी है, यह पेट के कीड़े मारने का सबसे सरल घरेलु उपचार हैं, इसका जरूर उपयोग करे.

राय, अजवाइन, भुना जीरा, कालीमिर्च, और बेइडिंग 2-2 तोला और सेंधा नमक लेकर पीसकर रख लें, सुबह शाम 4-4 माशा चूर्ण मट्ठे के साथ खाने से पेट के कीड़े ख़त्म हो जाते हैं. यह रसोई की दवा पेट के कीड़े मारने का इलाज करने में बहुत असरकारी होगी.

पित्त-पापड़, बेइडिंग को उबालकर पिने से पेट के सभी कीड़े नष्ट हो जाते हैं.

पलाश के बीजों के काढ़ा में 3 माशा अजवाइन का चूर्ण डालकर पिने से कीड़े मर कर मल मूत्र के साथ निकल जाते हैं.

गोयमुनड़ी के बीजों को पीसकर खाने से भी कीड़े नष्ट हो जाते हैं.

Stomach Worms Home Remedies in Hindi

बथुए का अर्क निकाल कर पिने से भी पेट के कीड़े समाप्त हो जाते हैं.

अरंड के रस में हींग डालकर पिने से उदार कृमियों का नाश हो जाता हैं.

हुहुल के बीजों का चूर्ण बड़े व्यक्तियों को 2 माशा से 3 माशा तक और बच्चों को थोड़ा सा देने से पेट के गोल कीड़े मरकर मल के साथ बाहर निकल जाते हैं.

केसर और दालचीनी बराबर मात्रा में पीसकर गोली बनाये इन गोलियों को सुबह शाम खाने से आंतो के कीड़े मर जाते हैं.

अनार की जड़ (Root) के क्वाथ में मीठा तेल मिलाकर 3 दिन तक पिने से आंतो के कीड़े मर जाते हैं. कीड़े मारने का बेस्ट घरेलु उपाय हैं जरूर try करे.

ढाक के बीजों को पानी में भिगोकर छिलका उतार लें इन्हें सुखाकर उनका चूर्ण बना लें 3 दिन और सवा माशा की मात्रा में यह दवा दें, चौथे 4 दिन अरंडी का तेल पिलाने से आंतों के कीड़े निकल जाते हैं. इस चूर्ण को शहद में मिलाकर भी दिया जा सकता हैं.

करेले के पत्तों का रस पिने से आंतों के सभी कीड़ें मल के साथ बाहर निकल जाते हैं.

बड़ों व बच्चों के पेट में कीड़े से बचने के घरेलु उपाय

उम्मीद है आपको बताए गए बड़ों व बच्चों के पेट के कीड़े का देसी इलाज और घरेलु नुस्खे से भरपूर लाभ हो. पेट के कीड़े के घरेलु उपाय से उपचार करे और पेट के कीड़े की मेडिसिन या दवा का उपयोग न करे. क्यूंकि जब आसानी से पेट की कीड़े ख़त्म किये जा सकते होतो फिर पेट के कीड़े मारने की दवा का क्यों उपयोग किया जाए. इसके साथ ही यह बताये गए बचाऊ के तरीकों पर भी ध्यान दें, साफ़ सफाई रखे कुछ भी खाने से पहले हाथ धोये, बासी भोजन न करे. और इसके साथ ही सुबह खुली हवा में घूमने भी जाए.

loading...