प्रश्न – बुखार में क्या खाये और क्या नहीं खाना चाहिए – Fever Diet in Hindi

बुखार का इलाज में क्या खाये – एक सही आहार बड़े से बड़े रोग को भी मात दे सकता हैं, वैसे ही अगर हम बुखार में सही खाना, फल व आहार ले तो जल्द ही बुखार से आई कमजोरी यानी बुखार के वजह से शरीर को हुए नुकसान की जल्द भरपाई की जा सकती हैं. इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को यह मालूम होना जरुरी हैं की बुखार में क्या खाये और क्या न खाये. कई लोगों को इस बारे में मालूम नहीं होता और इसी वजह से उनका बुखार पलटी मारता हैं यानी कुछ दिनों महीनो बाद उनकी तबियत फिर बिगड़ जाती हैं या शरीर में कमजोरी बनी रहती हैं. तो बुखार से आई कमजोरी और बुखार को हमेशा के लिए दूर करने के लिए जरुरी हैं की आप भुखार में भोजन सही आहार लें. Fever diet fruits phal in Hindi bhojan.

बुखार में क्या खाये और क्या नहीं खाना चाहिए

bukhar me kya khaye, bukhar me kya khana chahiye, बुखार में क्या खाये, बुखार में क्या खाना चाहिए, bukhar me parhej

Bukhar Me Kya Khaye Aur Kya Nahi Khana Chahiye

आइये जाने इसी विषय में बुखार में क्या खाना चाहिए foods and fruits fever diet in Hindi language. पिछले लेख में हमने इसके इलाज के सम्बन्ध में बताया तो अगर आपने वह लेख नहीं पढ़ा हो तो उसे भी यह जानकारी पूरी पढ़ लेने के बाद एक बार जरूर पड़ें –

  1. हरी पत्तेदार सब्जियां खाये
  2. मूंग दाल, तुवर दाल का सेवन भी करे
  3. मिर्च मसालेदार भोजन न करे
  4. सेब, अनार, अंगूर, पपीता का जूस पिए
  5. थोड़ी तबियत ठीक होने पर नाह सकते हैं
  6. अदरक, पुदीना और तुलसी की चाय पीते रहे
  7. बुखार के खाली पेट न रहे

बुखार में कोनसी सब्जी खाये – Vegetables in Fever

बुखार में सब्जी ऐसी होनी चाहिए जिसमे तेज मसाला मिर्च न हो और न ही सब्जी ज्यादा तेल की बनी होनी चाहिए. अगर आप साधारण सात्विक सब्जी नहीं खा सकते तो इसमें कम से कम मात्रा में तेज मसाला मिर्च का प्रयोग कर सकते हैं.

bukhar me sabji

सब्जियां :- मेथी की सब्जी, पालक की सब्जी, पत्ता गोभी की सब्जी, मूंग की दाल, टमाटर की सब्जी, करेले की सब्जी आदि लगभग पत्तेदार सभी तरह की हरी सब्जियों का सेवन कर सकते हैं. ध्यान देने वाली बात यह हैं की मिर्च मसाला, ज्यादा तेल, अन्य उत्पाद उस सब्जी न हो, बुखार में सिर्फ सामान्य सब्जी खाना चाहिए.

बुखार में कौन सा फल खाना चाहिए 

हर तरह के रोग में फलों के रस का अहम् महत्त्व होता हैं. रोगी अगर सिर्फ फलों का ही सेवन करे तो बड़ी आसानी से रोग को मात दे सकता हैं. लेकिन फलों में भी कुछ ऐसे फल होते हैं जिनको बुखार में नहीं खाना चाहिए आई जाने बुखार में कौन सा फल खाना बेहतर होता हैं.

bukhar me phal, bukhar konsa phal khaye

अंगूर खाये, चीकू खाये, नासपाती खाये, सेब खाये, पपीता खाये आदि मौसमी फल खाये भी खाये. जानकारी के लिए बता दें की बुखार में केला खाना नहीं खाना चाहिए, इसको खाने से शरीर में ठंडक बढ़ती हैं आदि बहुत से कारण होते हैं जिनके वजह से बुखार में केला नहीं लेना चाहिए.

फलों को चबाकर खाने से बेहतर हैं की आप इनका रस बनाकर पिए. बुखार में कौन सा जूस पिए :-
इसमें खासकर आपको पपीता का रस, सेब का रस, अंगूर का रस, मौसमी फल का रस आदि पीना चाहिए.

पानी ज्यादा पिए

सिर्फ बुखार ही नहीं बल्कि हर एक रोग में भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए इससे शरीर हाइड्रेटेड रहता और शरीर की प्रक्रिया चलती रहती हैं. बीमारी के समय शरीर में जो भी विषाक्त पदार्थ पैदा होते वह भरपूर मात्रा में पानी पीते रहने से मल मूत्र के रूप में शरीर से बाहर निकलते रहते हैं.

हर चीज को धोकर खाना चाहिए

वायरल बुखार बाहरी संक्रमण के कारण होता हैं यह संक्रमण किसी चीज को खाने से भी फेल सकता हैं. इसलिए यह बेहद जरुरी हैं की आप भोजन बनाते समय हाथ साफ़ करके बनाये और सब्जी को भी अच्छे से धोकर ही बनाये. किसी का झूठा न खाये.

मुनक्का खाये

मुनक्का बुखार में बेहद लाभप्रद होते हैं. यह बुखार के लक्षणों को कम करते हैं और शरीर की कमजोरी को दूर करते हैं. मुनक्का को आप सीधे चबा-चबाकर भी खा सकते हैं, इसमें सेंधा नामा मिलकर खाने से और भी फायेमंद होता हैं. इसके अलावा थोड़े से पानी में 15-20 मुनक्का डालकर उस पानी को उबाले अच्छे से उबल जाने पर इसे ठंडा होने दें और फिर इस पानी का सेवन करले इस तरह मुनक्का बुखार में बहुत फायदा करता हैं.

तुलसी के पत्ते खाये

बुखार से व सभी तरह की बैक्टीरियल बिमारियों से बचे रहने के लिए रोजाना सुबह बिना कुछ खाये तुलसी के पत्ते खाना शुरू कर दें. तुलसी के 4-5 पत्ते रोजाना खाने से आपकी रोग-प्रतिरोधक बहुत मजबूत हो जाती हैं, इस छोटे से प्रयोग से बहुत लाभ होता सर्दी जुकाम कभी भी नहीं होता.

#1. पोदीना की चाय व पोदीना का काढ़ा पिने से बुखार में बहुत लाभ होता हैं, यह सर्दी लग कर आये हुए बुखार को दूर करने में बेहद लाभप्रद होता हैं.

#2. अदरक की चाय भी बुखार में बहुत फायदेमंद होती हैं, दो कप पानी ले और जरा सा अदरक इसमें डालकर अच्छे से उबाल फिर जब पानी उबलकर आध रह जाए तो इसे रोगी को पिलाने के लिए दे दें. इस तरह अदरक की चाय पिने से बुखार ख़त्म होता हैं.

#3. तुलसी का काढ़ा – 20-25 तुलसी के पत्ते लें और 6-7 कालीमिर्च के दाने लें, अब इन दोनों को एक ग्लास पानी में मिलाकर अच्छे से उबाले और तब तक उबाले जब तक की यह एक ग्लास पाने उबलकर आधा न रह जाए. जब यह आधा रह जाए तो इसे गैस से निचे उतार ले और ठंडा होने पर रोगी को पिलाये. इसे सुबह व रात को सोने से पहले पिलाये इसको पिने के बाद खुली हवा में न जाये और न ही एक घंटे बाद तक कुछ खाये व पिए, पानी भी न पिए.

बुखार में क्या करे

जब रोगी को बुखार आये तो स्वाभाविक रूप से उसे पसीना भी आने लगता हैं ऐसे में कई लोग पसीना ठीक से नहीं निकालते व कंबल को हटा देते हैं, यह बहुत ही खतरनाक होता हैं. बुखार में हमे जब भी पसीना आये तो हमे उसको पूरी तरह से निकालना चाहिए व शरीर को गर्म कम्बलों से ढँक कर रखना चाहिए व पसीने को रुमाल अथवा तौलिये से पोंछते रहना चाहिए. ऐसी स्थिति में ध्यान रखे की रोगी को बहार की हवा बिलकुल भी न लगे, कंबल को अच्छे से ओढ़कर रखें.

प्रोटीन युक्त आहार – बुखार में भोजन आहार 

जब बुखार थोड़ा ठीक होने लगे तो आपको प्रोटीन युक्त आहार लेना भी शुरू कर देना चाहिए, अगर आप शाकाहारी हैं तो घी लगी रोटी और तुवर दाल की सब्जी खाना शुरू कर देना चाहिए साथ सुबह शाम दूध भी लेना चाहिए. मांसाहारी व्यक्ति को अंडे, साल्मोने मछली का मांस, चिकेन सूप आदि का सेवन करना चाहिए इनमे ज्यादा मात्रा में प्रोटीन मिलता हैं. इसके अलावा थोड़ी तबियत में सुधर दिखने पर सुबह के समय भोजन करने के बाद एक दौ कप दही का सेवन जरूर करना चाहिए यह पाचन प्रणाली को मजबूत करता हैं.

“अक्सर आज की युवा पीढ़ी पुरानी बातों पर जरा भी विश्वाश नहीं करती जैसे बुखार में खुली हवा में नहीं जाना, आहार पर नियंत्रण रखना, बुखार में घर के बाहर नहीं निकलना आदि आज देखा जाए तो युवा पीढ़ बिकुल इससे उल्टा कर रही हैं उन्हें बुखार आने पर वह परवाह ही नहीं करते खुली हवा में घूमते हैं, आराम नहीं करते आदि. इन बातों का ध्यान नहीं रखने से क्या-क्या नुकसान होता हैं यह उन्हें इस उम्र में तो पता नहीं चलता लेकिन जैसे-जैसे उम्र ढलती जाती वैसे-वैसे उनमे शारीरिक कमजोरी आना शुरू हो जाती हैं. यह उन वजहों में से एक हैं जिन वजहों से इंसान की उम्र घटती जा रही हैं व कम उम्र में भी शरीर क्षीण होता जा रहा हैं”

बुखार में तरल चीजों का ज्यादा सेवन करते रहे, नारियल पानी भी पीते रहे यह शरीर को हाइड्रेटेड रखने में मदद करता हैं और शरीर को शक्ति भी देता हैं. इसके अलावा बुखार में सुबह शाम समय पर आहार लेटे रहे ताकि शरीर में कोई कमजोरी न आये.

बुखार में परहेज क्या करे – What To Avoid in Fever

  1. बुखार में चाय, शराब, मांसाहारी भोजन न करे
  2. ठंडा पानी, आइस क्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स आदि का परहेज करे
  3. बुखार आने पर ज्यादा से ज्यादा आराम करे
  4. मार्किट का काम, घर से बहार न जाये
  5. बुखार के शुरुआत में स्नान न करे
  6. समय पर बताई गई चीजे खाये
  7. कोल्ड ड्रिंक्स के बजाये नारियल पानी, ग्लूकोस का पानी, संतरे का रस ज्यादा पिए

 NEXT PAGE

इस तरह सही खाना खाकर आप बुखार को जल्द मिटा सकते हैं. अब आपको बुखार में क्या खाये और क्या नहीं खाना चाहिए most effective information about fever diet in Hindi foods and fruits इस विषय अच्छे से जानकारी हो गई हैं, अब ज्यादातर बताये गए फल, सब्जी व खाना खाये. इसके अलावा हमने पिछले लेख में इस रोग के इलाज के विषय में जो नुस्खे दिए थे वह भी अपना सकते हैं व डॉक्टर द्वारा दी गई गोली दवाइयां समय पर लेते रहे.

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.