खर्राटे का इलाज – नींद में खर्राटे आने के घरेलु उपाय और नुस्खे

नींद में खर्राटे बंद करने का इलाज इन हिंदी जाने आज के भागदौड़ भरे जीवन में हर किसी को आराम की आवश्यकता होती है. यदि यह आराम इंसान को ना मिले तो कई प्रकार की समस्याएं खड़ी हो सकती हैं. भागदौड़ से राहत पाने और दिमाग को तनाव मुक्त करने के लिए सबसे बेहतरीन इलाज होता है एक अच्छी नींद. लेकिन यदि आपको नींद के समय खर्राटे आते हैं तो आप दूसरों की नींद बिगाड़ सकते हैं जिनको आराम की जरूरत है. इसके लिए कई रोगी खर्राटे की दवा होम्योपैथिक और एलोपैथिक दोनों ही लेते भी है. आप इससे बिना किसी दवा के घर पर ही बाबा रामदेव के घरेलु उपाय व आयुर्वेदिक उपचार के जरिये नींद में खर्राटे लेना रोक सकते हैं ayurvedic remedies for snoring stop treatment in Hindi.

kharrate kyo aate hai, kharrate

नींद में खर्राटे आने का एक बहुत अहम कारण होता है. जब हवा का बहाव गले की त्वचा में कंपन पैदा कर देता है तो बहुत ही कठोर आवाज निकलती है जिसे खर्राटे कहा जाता है. यह समस्या पुरुषों में बहुत आम मानी जाती है. यह आपने जाना खर्राटे क्यों आते है और कैसे आते है.

खर्राटे आने के लक्षण

 गले में खराश होना
 सुबह के समय सिर में दर्द होना
 रात को सोते समय ज्यादा हांफना
 रक्तचाप में किसी भी प्रकार की बढ़ोतरी
 रात के समय छाती में दर्द होना
 सोते समय नाक से आवाज आना
 ध्यान देने में कठिनाई होना
 दिन में बहुत ज्यादा नींद आना
 नींद में बेचैनी महसूस होना
 अचानक से दम घुटने का एहसास होना

खर्राटे के आने कारण

 नाक में हवा के मार्ग में रूकावट से
 नाक में किसी प्रकार के संक्रमण से
 नाक में सैपटम जैसी विकृति होना
 मांस पेशियों की कमजोरी के कारण
 शराब के ज्यादा सेवन से
 नींद की गोलियां खाने से
 गले के ऊतकों के बढ़ जाने से
 शरीर का वजन बढ़ जाने के कारण
 गले के उत्तक का आकार बढ़ जाने से
 नींद से जुड़ी किसी बीमारी से
 अनुवांशिक बीमारी होने से

खर्राटे का इलाज के आयुर्वेदिक उपाय

kharrate ka ilaj, kharrate ka ilaj in Hindi, kharate ke gharelu upay, खर्राटे का इलाज

Kharate Ka Treatment Dawa ilaj in Hindi

 खर्राटे के आयुर्वेदिक उपचार के लिए लगभग 10 बूंद गाय का घी लें और उसे एक चम्मच में डालकर हल्का सा गर्म कर लें. अब इस गाय के घी की करीब 2 से 3 बूंदे अपने नाक के दोनों नथुनों में डालें. ऐसा करने से आपके खर्राटे बंद हो जाएंगे.

 नींद में खर्राटे का एक मुख्य कारण कम नींद लेना यानी कि बहुत देर तक जागना भी हो सकता है. इसलिए जितना हो सके भरपूर नींद ले और ज्यादा देर रात तक जगने से बचें. साथ ही साथ अगर हो सके तो रात के समय में भोजन कम करें, यह एक आसान टिप है खर्राटे के घरेलु उपाय में.

 खर्राटे का कारण आपके नाक में किसी प्रकार की समस्या भी हो सकती है. इसके लिए नमक के पानी को हल्का गुनगुना करके उसके गरारे करने से आपको लाभ मिल सकता है. साथ ही साथ नाक की सफाई का विशेष ध्यान रखें. खर्राटे के घरेलु नुस्खे में जलनेति या सूत्र नेति का इस्तेमाल करके आप अपनी नाक को साफ रख सकते हैं और नींद में खर्राटे का उपाय कर सकते हैं. यह जलनेति खर्राटे बंद करने में एक शानदार और सरल तरीका है.

 किसी योग के जानकार से ऐसे योगा सीख ले जिसकी मदद से आप कि सांस लेने वाली मांसपेशियां मजबूत हो जाए ऐसा करने से भी आपके खर्राटे दूर हो जाएंगे.

 अनुलोम विलोम प्राणायाम को अपनी रोजाना की जीवनशैली दिनचर्या में शामिल कर लें. यह खर्राटे के अलावा अन्य कई बीमारियों में बेहद सहायक होती है.

 करीब एक ग्लास गर्म दूध लें और उसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाएं. इस दूध का सेवन करने से भी आपके खर्राटों का उपचार हो जाएगा. इस घरेलु उपाय को आप रोजाना रात को सोने से पहले करे.

 जैतून का तेल लें और उसमें थोड़ी सी हल्दी को मिला लें. अब इस मिश्रण में थोड़ा सा शहद मिलाएं और इसको मुंह में रख लें और फिर सो जाएं. धीरे-धीरे इस मिश्रण का रस आपके गले में जाता रहेगा और आपके गले की श्वास नली को भी साफ कर देगा. इस उपाय से निश्चित तौर पर आपके खराटे बंद हो जाएंगे.

 सोने से पहले भाप लेना शुरू करें. भाप लेने के लिए सबसे पहले एक भगोने में पानी गर्म करें और उसमें निम्नलिखित चीजें मिलाएं. विक्स, यूकेलिप्टस का तेल और चाय के पत्ती का तेल. इसकी इसकी भाप लेने से खर्राटे आपको परेशान करना बंद कर देंगे.

 लहसुन की दो कलियां ले और इनके छिलके को निकाल दे. अब इन दोनों कलियों को मुंह में रखकर चबाने और उसके बाद पानी पी ले. यह उपाय करके सोने से आपको खर्राटे नहीं आएंगे.

 पुदीने की कुछ पत्तियां ले और उनको चबा ले . इन पत्तियों को निगले नहीं और इनका रस धीरे-धीरे गले में उतरने दे. ऐसा करने से आपका गला साफ हो जाएगा और आपके खराटे बंद हो जाएंगे.

 बाबा रामदेव का इलाज के अनुसार कपालभाति प्राणायाम और उज्जाई प्राणायाम करने से खर्राटे में बहुत ज्यादा लाभ मिलता है. इसको सीखना बहुत मुश्किल काम नहीं है आप आसानी से इसे सीख सकते हैं. यह प्राणायाम खर्राटे की दवा से भी तेज लाभ करते है.

 खर्राटे बंद करने के इलाज में आप एक आसान से उपाय भी कर सकते हैं. इसके लिए कभी भी एक करवट पर ना सोएं. यदि आप करवट बदल बदल कर सोते हैं तो भी आपको खर्राटे नहीं आएंगे.

 यदि आप बहुत ज्यादा दवाइयां खाते हैं तो भी आप को खर्राटे की समस्या हो सकती है. इसके साथ-साथ यदि आप नींद की गोली का सेवन करते हैं तो भी आप को खर्राटे आ सकते हैं इसलिए नींद की गोली का सेवन करने से बचें.

 थोड़ा सा सरसों का तेल नहीं है और उसे गर्म करें. अब इस तेल में लहसुन डालें और इस को पका लें. तेल को हल्का ठंडा होने दें और इस तेल से अपने छाती और गले की मसाज करें. इससे सांस लेने में आने वाली रुकावट खत्म हो जाती है और आप की खर्राटे बंद हो जाते हैं.

 किसी भी प्रकार के ठंडे आहार जैसे की आइसक्रीम, कोल्डड्रिंक ,ठंडा पानी ,फ्रिज में रखी हुई किसी भी प्रकार की चीज आदि का सेवन बिल्कुल ना करें. ठंडी चीजों का सेवन करना भी खर्राटे की समस्या को दावत देता है.

 यदि आप मुंह खोल कर सोते हैं तो भी आप को खर्राटे आ सकते हैं. इसलिए जब भी सोए हमेशा मुंह बंद करके सोए. ऐसा करने से आपको खर्राटे नहीं आएंगे.

 अपने वजन को कम करने का प्रयास करें और मोटापा बढ़ने ना दें. ज्यादा वजन का होना भी खर्राटे की बीमारी को न्योता देता है.

 सोते समय हमेशा अपने सर को ऊंचाई पर रखकर सोएं. ऐसा करने के लिए आप तकिए का प्रयोग करें और अपने सर को तकिए पर लगाकर सोए.

 व्यायाम को अपनी आदत बनाएं और पूरी लगन के साथ व्यायाम करें.

खर्राटे की होम्योपैथिक दवा

  • WL 45 Anti Snoring Drops – 12-15 बून्द आधे कप पानी में डाल कर एक दिन में 3 बार पिए.
  • Stramonium 30 – 2 बून्द दिन में तीन बार लीजिये
  • China 30 – गहरी नींद में खर्राटे आने पर यह दवा लें, 2 बून्द दिन में तीन बार.
  • Hyoscyamus Niger 30 – खर्राटे की तेज आवाज़ से परेशां है तो 2 बून्द सुबह-शाम 20 दिन तक लेवे.
  • Antimonium Tartaricum 30 – खर्राटे के साथ कफ की शिकायत होने पर 2 बूंद दिन में 3 बार यह दवा लेवे.
  • इनमे से आप कोई सी भी होम्योपैथिक दवा चुन सकते है, व चुनी हुई दवा के साथ यह दवा भी रोजाना ले. WL 45 Anti Snoring Drops 1-2 महीने में खर्राटे को हमेशा के लिए दूर कर देगी.

इन घरेलु उपाय व नुस्खे का प्रयोग करे और रोजाना प्राणायाम भी करे. यह खर्राटे का इलाज आयुर्वेदिक उपाय  snoring solution in Hindi बहुत ही असरकारी है, अगर आप रोजाना इन बताये गए उपायों को करते है तो कम समय में आप नींद में खर्राटे लेना बंद कर देंगे.

loading...
loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.