Ujjain Simhasth जानिये सिंहस्थ क्यों मनाया जाता हैं – With Short Mythological Story |

Ujjain simhastha 2016 – Kumbh Mela

सिंहस्थ – Ujjain में सिंहस्थ का भव्य आयोंजन ज़ारी हैं | यहां चार स्थानो पर कुंभ मेला लगता हैं- Haridwar, Prayag, Ujjain, और Nasik | उज्जैन कुंभ सिंहस्थ कहलाता हैं क़्योंकि यह ब्रहस्पति के सिंह राशि में आने पर होता हैं |

इसके अलावा सुर्य मेष राशी में और चंद्र तुला राशी में होते हैं | एक़ कथा हैं की समुद्र मंथन में अमृत का घडा (कुंभ) निकला, तो उसपर अधिकार करने के लिये देव दानव में संघर्ष होने लगा |

इस बीच इंद्र के ईशारे पर उनके पुत्र जयन्त घड़ा ले भागें यह संघर्ष बारह वर्ष तक़ चला | छीना झपटी में उस अमृत के घडे में से चार बूंदे चार जग़ह पर गिरि थी, जहां कुंभ का आयोजन हर बारह वर्ष में होता है |

उज्जैन में पिछ्ला कुंभ 2004 में हुआ था | ये मेले संसार के सबसे बडे मानविय जमावडे हैं | उज्जैन यानी अवन्तिका सप्तपुरियों में भी शामिल है और यहां महाकालेश्वर ज्योतिलिंर्ग भी हैं |’

Also Read : 

इस तरह युधिस्टर ने आधा युद्ध तो यूँही जीत लिया था.

जानिये क्या संकेत देते हैं सपने

कैसे पता लगाए आपकी GF FB whatsapp पर किससे बातें करती हैं

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.