Best Ways To Achieve Goals – सात अचुक उपाय जो जीवन में हर लक्ष्य तक पहूंचाए

Steps How To Achieve Goals in Hindi

ways to achieve goals in hindi

7 Ways to Achieve Goals

सात अचुक उपाय जो जीवन में हर लक्ष्य तक पहूंचाए

Kamyab hone ke tarike janiye life me safal kaise ho – लक्ष्य पर वैसे ही निगाह रखें जैंसे अर्जूंन ने मछली की आंख पर रखी थी. लक्ष्य तक पहूचने के मार्ग में आने वाली बाधाओं के बारे में आंकलन करें (way to achieve goals).

अपने लक्ष्य पर टिके रहे, ऐसा न हो कि जरा सी मुसीबत आते ही बदल जाये. व्यावहारिक लक्ष्य बनायें, अपनी सीमाओं और क्षमताओं को जरूर आंके. कुछ हासिल करने के लिए मेहनत तो करनी ही पडती है. इसके बिना जीवन में कुछ भी हासिल कर पाना असंभव है.

तो आईये जानते हैं सात ऐसे कदम जो आपको अपने लक्ष्य को हासिल करने में मददगार कर सकते है-

Goal Ko Achieve Kaise Kare Kamyab Kaise Bane

रहें स्पष्ट, नहीं होगा कष्ट

खुश रहना कोई लक्ष्य नहीं हैं, बल्कि यह जानना जरुरी हैं कि आखिर आपको किस चीज से ख़ुशी होती है. इस बारे में अपना नजरिया साफ रखे. किसी खास बिन्दू पर अपनी नजर रखें.

मान लिजिए आप फिटनेस हासिल करना चाहते हैं, लेकिन आपको यह भी मालूम होना चाहिए कि आखिर आपकी नजर में फिटनेस का अर्थ क्या है ? क्या 5-50 किलो वजन कम करना आपके लिए काफी होगा या आप शारीरिक शक्ति बढ़ाना चाहते है?

या किसी खास Dress में Feet आना आपका लक्ष्य है ? या फिर मैराथन के लिए फिट होना आपका लक्ष्य है ? कहने का अर्थ यह हैं कि आपको अपनी ख़ुशी के बारे में सटीक और पिन पांइंट जानकारी होनी चाहिए.

चरण तय करें, Make step’s-

कुछ सीखने और जानने के लिए हर बार घर से बाहर निकलना जरूरी नहीं, इंटरनेट के इस दौर में काफी चीजें घर बैठे ही सीखी जा सकती है. कामयाब लोगों के बारे में पढें और देखें उन्होनें अपने जीवन में कामयाबी कैसे पाई ?

ऐसे लोगो के बारे में जानकारी हासिल करे जिन्होंने अपने जीवन में वह हासिल किया हैं जो आपका लक्ष्य है. इससे आपको चरणबद्ध कामयाबी हासिल करने में मदद मिलेगी.

अच्छा रहेगा अगर आप उन Points को लिख लें इससे आपको जीवन में अपना लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी.

हे जूनून, Be passionate

यह बहुत जरूरी है, हम शुरुआत तो बहुत अच्छी करते हैं लेकिन कुछ ही दिनों में यह जूनून कहीं खो जाता है. हम अपने लक्ष्य से भटक जाते है, हमें अपनी क्षमताओं पर ही संदेह होने लगता है, हमें नाकायाबी का डर सताने लगता है.

हमें नकारे जाने और अपना लक्ष्य हासिल न कर पाने का डर सताने लगता है. हम मेहनत के कठिन रास्ते के स्थान पर Shortcut तलाशने लगते है. इससे आपको कामयाबी हासिल नहीं होगी.

कामयाबी के लिए जूनून होना बहुत जरूरी है. जब तक लक्ष्य हासिल न हो जाये उसे छोडना सही नहीं है.

आपके सवाल है आपकी ताकत-

अपने आप से यह सवाल जरुर पुछें. पुछें कि आपके लिए आपके लक्ष्य की क्या कीमत है ? क्या आप उसे हासिल किये बिना अपना जीवन पूर्ण मानते है ? यह केवल आपके अहमं को संतुष्ट करने का सवाल नहीं है.

यह बात कुछ और है. यह मायने रखता हैं कि आपकी नजरों में आपके सपने कितने मायने रखते है? और उन्हे हासिल करने में आप अपनी मेहनत कर सकते हो, यह खुद से मुलाकात की तरह है. इन सवालों के जवाबों के बिना शायद लक्ष्य का आनंद अधुरा ही रह जाता है.

Also Read :

देखें आपने क्या सीखा, See what you’ve learned-

नतीजें बहुत मायने रखते है, लेकिन इससे ज्यादा मायने रखती हैं वो सिख जो आपको इस पूरे सफर में मिलती है. लक्ष्य हासिल करने के दौरान आप विभिन्न चरणों से गुजरते हैं, और हर चरण आपको कुछ सीखाता है.

अगर एक बार आप नाकायाब भी हो जायें तो उन सीखों को कभी न छोडें. यह सीख जीवन भर काम आयेंगी. नकारात्मक विचारों से दूर रहे. संभव हैं कि कईं बार परिणाम आपके पक्ष में नहीं आये, लेकिन इस सफर में आपने जो सीखा हैं वह हमेशा आपके साथ रहेगा.

दृढ रहें, Always be strong-

अपने हक पर कायम रहे. अपने हिस्से की कामयाबी और उसका श्रेय किसी दूसरे व्यक्ति को न लेने दे.
यह आपका है और आपको पूरी कोशिश करनी चाहिए कि आपसे आपका हक कोई न छीन पाये. आपकों उसे हासिल करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देनी चाहिए.

हो सकता हैं यह इतना आसान न हो लेकिन इस दुनिया में आसानी से कुछ नहीं मिलता. उदाहरण के लिए आप अपने स्वभाव में किसी सकारात्मक बदलाव करना चाहते हैं तो आप अकेले के लिए यह कर पाना मुश्किल होगा. इस पर टिके रहने के लिए आपको कई प्रकार के समझौते करने पड सकते है.

विचारों का द्वंद आपकी नींद उडा सकता है. आपको अपने अहम से समझौता करना पड सकता है. इसके साथ ही आपका अपना दिल माफ करने लायक बडा बनाना होगा. यह अपने आप से की जाने वाली लंबी लडाई हैं जिसे आपको रोजाना लडना होगा.

जो है आपका है Everything is your’s-

यह पूरी शिक्षा का अर्थ है – जाने जो आपने सीखा है वह आपका है. आपसे वह कोई नहीं छिन सकता, भले ही आपका लक्ष्य न हो लेकिन कईं बार यह आपके लक्ष्य से भी अधिक अहम हो सकता है.

आपका यह अनुभव जीवन में बेहतर इंसान बनने में मदद करेगा. यह अनुभव और उससे प्राप्त सीख जीवन में सबसे अधिक मायने रखती है.

लक्ष्य हासिल करने का सफर वास्तव में अपनी क्षमताओं और सीमाओं का आंकलन करना है. उन्हे बढाना है. यह अपने भीतर यात्रा करने का मौंका देता है. यह दोषारोपण शिकायत और गिला शिकवा नहीं है.

How to achieve goals in Hindi – नाकामयाबी का कोई बहाना नही होता. लक्ष्य तो जीवन चक्र के साथ चलते रहने का नाम है. अनवरत यात्रा का दूसरा नाम है.

कामयाब होने के तरीके व कामयाब कैसे बने आदि का यह लेख आपको पढ़कर अच्छा लगा होगा, ऐसे ही लेख पड़ते रहने के लिए हमसे जुड़े रहे. दोस्तों अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे कृपया इसे Facebook व अन्य Social Network  पर SHARE करना न भूले और Comments दे की यह लेख आपको कैसा लगा |

 

loading...
loading...

3 Comments

  1. Avantika Anubhuti
    • HindiMind
    • गौरव

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.