Law of attraction in Hindi, आकर्षक व्यक्ति कैसे बने

Law of attraction in Hindi

*आकर्षक व्यक्ति कैसे बने*

Law-of-attraction आप जैसा अपने बारे में सोचेंगे आपका व्यक्तित्व वैसा ही बन जाएगा. अधिकतर लोगों का व्यवहार उलझनो से भरा होता है. क्या आपने कभी सोचा की कोई दूकान्दार एक ग्राहक को इज्जत क्यों देता है.

जबकि वह दूसरे ग्राहक को नजर अंदाज कर देता है ? कोई व्यक्ति एक महिला के लिए दरवाजा खोल देता है, जबकि दूसरी महिला के लिए नहीं खोलता ?

हम किसी व्यक्ति की बात को ध्यान से क्यों सुनते है, जबकि दूसरे व्यक्ति की बातों को अनसुनी कर देते हैं ? अपने चारों ओर देखें. आप देखेंगे कि बहुत से लोगो को “हे, राहुल” या ” और, यार ” कहकर बुलाया जाता है, और कई लोगों से महत्वपुर्ण ” यस, सर” कहा जाता है.

देखिए. आप पाएंगे कि कुछ लोगों को एहमियत, वफादारी और तारिफ मिलती है जबकि बाकी लोगों को ये सब चीजें नहीं मिलतीं.

और नजदिक से देखने पर आप पाएंगे की जिन लोगों को सबसे ज्यादा सम्मान मिलता है वे सबसे ज्यादा सफल भी होते है. ईस बात का कारण क्या है ? अगर मात्र एक शब्द मै इस का उत्तर दिया जाए तो इसका कारण है सोच (Thinking ).

हमारी सोच के कारण ही ऐसा होता है. दूसरे व्यक्ति भि हम में वही देखते है, जो हम अपने आपमें देखते और सोचते है.

हमें उसी तरह का भाई चारा, व्यवहार , मिलता है जिसके काबिल हम खुद को समझते हैं. सोच के कारण ही सारा फर्क पडता है.

वेसे आदमी जो खुद को हीन समझते है, चाहे उनकी योग्यताए कितनी ही क्यों न हों, वे हीन ही बनें रहेंगे. आप जैसे सोचते, विचारते है वैसा ही काम करते हैं. और वैसे ही हो जाते है. चाहे वह अपनी हीनता छुपाने का कितना भी प्रयास करे, यह मुलभूत भावना लंबे समय छुप नहीं सकती.

जो व्यक्ति यह महसूस करता है कि वह महत्वपूर्ण नहीं है, वह सचमूच महत्वपूर्ण नहीं होता. ठिक दूसरी तरफ, वह व्यक्ति जो यह सोचता है कि वह कोई काम कर सकता है, तो वह सचमुच उस काम को कर लेगा .

महत्वपूर्ण बनने के लिए यह सोचना, समझना जरुरी है कि में महत्वपूर्ण हू. सच में ऐसा सोचें. तभी दूसरे लोग भी हमारे बारे में ऐसा सोचेंगे इस तर्क को ठिक से पडे.

आप क्या सोचते है, इससे तय होता है कि आप केसा काम करते हैं.
आप क्या करते हैं इससे तय होता है – दूसरे आपके साथ कैसा व्यवहार करते हैं.

दूसरे लोगों का सम्मान पाने के लिए आपको सबसे पहले तो यह सोचना होगा की आप उस सम्मान के काबिल हैं. और आप अपने आपको जितने सम्मान के काबिल समझेंगे, दूसरे लोग आपको उतना ही सम्मान देंगे.

ईस सिध्दांत का प्रयोग करके देख लें. क्या आप के दिल मै कभी किसी गरिब या असफल व्यक्ति के लिए सम्मान देखा हैं. हा आपको द्या आ सकती है लेकिन सम्मान नहीं. क्यों ???

क्योकिं वह गरिब या असफल व्यक्ति खूद का सम्मान नहीं करता. वह आत्म-स्म्मान के अभाव में अपनी जिंदगी बर्बाद कर रहा है. आत्म सम्मान हमारे हर काम में साफ दिख जाता है. इसलिए हमें इस तरफ ध्यान देना होगा कि हम किस तरह अपना आत्म सम्मान बढा सकते हैं और दूसरों से सम्मान हासिल कर सकते हैं.

और इस सब के लिए जरुरी हैं की आप अपने बारे में सकारात्मक सोचे. फिर धीरे-धीरे आपका जीवन बदल जाएगा.

नमस्ते दोस्तों हमसे Facebook पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे. हमारा Group Join करे और Page Like करे. "Facebook Group Join Now" "Facebook Page Like Now"
loading...

All Comments

  • Sir me apse kuch sawal karna chahti hu releationship bare me use me bhi low of attaraion sahi mahine me kam kar ta he

    Dimpal April 15, 2017 7:42 am Reply
    • Hmmmm Law of attraction har mayne me kaam karta hai.

      Ask Your Question April 15, 2017 10:20 am Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Share This but dont Copy & Paste.