समुद्र का पानी खारा क्यों होता हैं ? Why Ocean Water is Salty

समुद्र का पानी Why Ocean Water is Salty in Hindi

समुद्र किनारे टहलते समय, उसमे नाहते समय या उसके बारे में बातें करते समय यह सवाल सबके मन में एक न एक बार जरूर उठा होगा की आखिर समुद्र का पानी खारा व नमकीन सा क्यों होता हैं.

मेने भी भी इस बारे में कई बार सोचा हैं, इसलिए आज मेने विभिन्न माध्यमों के जरिये यह जाना हैं की समुद्र का पानी खारा क्यों होता हैं. इस बारे में जानने के लिए मेने कई पुस्तके व इंटरनेट पर कई चीजें पड़ी उनके अनुसार मुझे यह जानने को मिला. आप भी जानिये अब.

why ocean water in salty in hindi, samdra ka paani khara kyon hota hai

हम सभी जानते हैं की समुद्र का पानी खारा होता हैं इसकी वजह यह हैं की समुद्र के जल में नमक घुला रहता हैं. औसत रूप में समुद्री जल में 3 से 3.5 प्रतिशत तक नमक होता हैं. सारी दुनिया के समुद्रों में इतनी अधिक मात्रा में नमक मौजूद हैं की यदि उसे पानी से अलग कर के सूखा लिया जाए, तो उससे 288 किमी. ऊंची, 1.6 किमी. मोटी और पृथ्वी की परिधि के बराबर लम्बाई वाली एक दिवार बनाई जा सकती है.

जैसा की हम सभी जानते हैं समुद्र विभिन्न नदियों के पानी का स्त्रोत होता हैं

आइये देखें की क्यों नमकीन होता हैं समुद्र का पानी ? दरअसल, पृथ्वी की सतह पर बड़ी मात्रा में लवण और अन्य खनिज मौजूद होते हैं. जब बारिश होती हैं, तो घुलनशील होने के कारण लवण पानी में घुलकर नदियों में पहुंच जाते हैं.

इसके साथ ही समुद्र में कई नदियां आकर मिलती हैं, हर एक नदी का अपना एक पानी होता हैं, जैसे कुछ जगह का पानी मीठा होता है तो कही का खारा. तो यह सभी तरह के पानी एक जगह आकर मिल जाते हैं. जिससे भी समुद्र का पानी खारा होता हैं.

नदियों के किनारे व जमीन पर कई तरह के एसिडिक लवण व हवा में कार्बन डाइऑक्साइड व अन्य गैसों के होती हैं, ऐसे में जब बारिश होती हैं तो यह एसिडिक पदार्थ पानी के साथ नदी में जाकर मिल जाता हैं. और फिर अंत में यही पानी समुद्र में जाकर मिल जाता हैं. यह पदार्थ जो की पानी को खारा बना देते हैं, यह समुद्र में जाकर स्थिर हो जाते हैं. यह पानी के साथ भांप में नहीं बदलते. इसलिए समुद्र का पानी दिन बी दिन खारा होता जा रहा हैं.

नदियों के द्वारा ये लवण समुद्र में मिल जाते हैं. समुद्र का पानी भाप बनता हैं, जिससे बादल बनते हैं, और फिर बारिश होती हैं. समुद्र से पानी के निकास का एक ही तरीका होता है, वाष्ण्पान. चूंकि नमक का वाष्ण्पान नहीं होता, इसलिए लाखों वर्षों से नदियों के द्वारा लाया गया यह नमक समुद्र में जमा होता जा रहा हैं. इसीलिए समुद्र के पानी का खारापन भी स्थिर नहीं हैं, बल्कि और धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है.

loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.