इंटरनेट क्या है, कब शुरू हुआ और कितने लोग चलाते है

  • इंटरनेट पिछले वर्षों में भारत में काफी तेजी से आगे आया है, इसके पहले लोग इस बारे में जानते भी नहीं थे. लेकिन अभी भी कई लोगों को इंटरनेट क्या है, इंटरनेट कैसे चलाये और इंटरनेट किसने बनाया, कब बनाया इसका मालिक कौन है इन सभी बातों के बारे में कुछ जानकारी नहीं है. इसी जानकारी को लेकर हम आये है, हम आपको इंटरनेट से जुडी जानकारी यह क्या है और कैसे आये इस बारे में पूरी जानकारी देंगे. आगे पढ़िए what is internet in Hindi भाषा में.
  • आज इंटरनेट ने लोगों के दिलों में इस तरह जगह बना ली है, आज के व्यक्ति को खाना मत दो, पानी मत दो, बाहर मत जाने दो, कपडे मत दो, उसकी सारी आज़ादी छीन लो वह कुछ नहीं कहेगा लेकिन अगर इंटरनेट उससे छीन लिया, यानी उसका मोबाइल अगर उससे छीन लिया तो फिर ठीक नहीं होगा. क्योंकि आजका व्यक्ति बिना इंटरनेट के रह ही नहीं सकता इसके बिना उसका जी घबराने लगता है.

क्या आप जानते है इंटरनेट का जन्म January 1, 1983 को हुआ था और भारत में इंटरनेट सबसे पहले BSNL द्वारा August 15, 1995 में शुरू हुआ था. यानी भारत में August 15, 1995 में इंटरनेट का आवागमन हुआ था, तभी से भारत में मोबाइल में पहली बार इंटरनेट का उपयोग हुआ था. हालांकि यह आज भी भारत के कोने कोने में ठीक से नहीं पहुंच पाया है लेकिन आगामी कुछ सालों में यह भी होने की सम्भावनाये है.

इंटरनेट क्या है, नेट क्या होता है

internet kya hai, internet kya hai in Hindi, what is internet in Hindi

What is Internet in Hindi

  • इंटरनेट का अर्थ है एक नेटवर्क यानी जाल जो चरों तरफ फैला हुआ है. इंटरनेट एक ऑनलाइन वर्ल्ड है, यानी की इंटरनेट एक नेटवर्क है जो की पूरी दुनिया में फैला हुआ है. ठीक वैसे ही जैसा हमारे पास मोबाइल में सिम कार्ड है, तो सिम कार्ड में जो नेटवर्क होते है ठीक वैसे ही इंटरनेट भी एक तरह का नेटवर्क होता है. इस नेटवर्क पर आप सन्देश, फोटो, वीडियो, मीडिया आदि कुछ भी भेज सकते है.
  • इंटरनेट की मदद से आज जिन संदेशो को भेजने में कई दिन लग जाते थे वही अब चंद सेकण्ड्स सन्देश पहुंच जाते है. इंटरनेट से दुनिया में जबरदस्त बदलाव हुआ है. हालांकि इंटरनेट को भारत में आम नागरिक तक पहुंचने में जरूर समय लगा है लेकिन दूसरे देशों में यह काफी समय पहले से ही बहुत प्रसिद्द हो हो चूका था.
  • आज आप जानते है इंटरनेट के माध्यम से कितने नए मध्य खुले है जैसे आप घर बैठे शॉपिंग कर सकते है, दूर बैठे दोस्त से वीडियो कालिंग कर सकते है, फेसबुक, यूट्यूब, ईमेल आदि का लाभ ले सकते है. यानी इंटरनेट जरुरत के साथ साथ लोगों के मनोरंजन का माध्यम भी बना हुआ है. मानव दुनिया में इंटरनेट एक बहुत बड़ा बदलाव है यह आगामी समय में अभी कई उचाईयों को छू सकता है.

इंटरनेट कैसे चलाये

  • इंटरनेट चलाना कोई बड़ा काम नहीं है, आपको बस अपने SIM में डाटा प्लान यानी इंटरनेट का बैलेंस डलवाना होता है फिर आप अपने मोबाइल की Data on करके इस सेवा का भरपूर लाभ प्राप्त कर सकते है. इसके जरिये आप फेसबुक, व्हाट्सप्प आदि आधुनिक चीजों का लाभ प्राप्त कर सकते है. इसके माध्यम से आप और भी कई मनचाहे लाभ ले सकते है,

भारत का Total कितना Population Internet Use करता है

  • भारत में 2018 के Statics के मुताबिक 500 million लोग भारत में इंटरनेट का उपयोग करते है और बात की जाए पुरे विश्व की तो पूरी दुनिया में जो जनसख्या है उसमे से 45-50% लोग इंटरनेट का उपयोग करते है. भारत में JIO के चलते हुए, इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या काफी बड़ी है और अगले साल तक यह संख्या और भी तेजी से बढ़ती हुई नजर आती है. आज की रफ़्तार और हाल को देखते हुए कहा जा सकता है की वो दिन दूर नहीं जब पूरा भारत डिजिटल भारत हो जायेगा.

kitne log internet chalate hai

इंटरनेट को हिंदी में क्या बोलते है

  • इंटरनेट को शुद्ध हिंदी भाषा में अन्तरजाल और संगणकजाल कहते है. अंतरजाल का मतलब होता है आतंरिक और जाल का मतलब है फैलना, बिछा हुआ. इंटरनेट एक जाल ही है, यह पूरी दुनिया में फैला हुआ है, हमे यह दीखता नहीं लेकिन यह एक जाल की तरह एक जगह से दूसरी जगह तक फैला हुआ है एक दूसरे से जुड़ा हुआ है. इसीलिए हिंदी भाषा में इसे अन्तरजाल कहते है.
  • इंटरनेट के जरिये बैंकिंग भी आज बड़ी आसानी हो गई है, अब आप घर बैठे है किसी को भी अपने पैसे भेज सकते है वही अपने बैंक का बैलेंस भी चेक कर सकते है. BOI SBI या कोई सी भी बैंक हो नेट बैंकिंग मे log-in करने का चार्ज भी नहीं लगता है, आप चाहे जितने बार बैंक का अकाउंट खोले और बंद करे इसमें कोई चार्ज भी नहीं लगता है.

इंटरनेट की जानकारी कितनी सही और कितनी गलत

  • इंटरनेट पर कोई भी जानकारी झूठ भी हो सकती है और गलत भी हो सकती है, क्योंकि कोई भी व्यक्ति कुछ भी इंटरनेट पर डाल सकता है. इसलिए नेट पर दी हुई जानकारी पर आँख मूंद कर विश्वाश नहीं करना चाहिए. ऐसी कई जानकारिया होती है जो की झूठी होती है और फेसबुक, व्हाट्सप्प आदि पर वह VIRAL हो चुकी होती है, तो वह VIRAL हो गई इसका मतलब यह नहीं की वह सच है, सही है. इसलिए हमेशा इंटरनेट पर दी गई किसी भी तरह की जानकारी पर पूरा विश्वाश न करे. इंटरनेट पर कई ऐसी वेब्सीटेस होती है जो गलत जानकारियां देती है और कई ऐसी भी होती है जो बिलकुल सही जानकारियां देती है.
Share Now

Leave a Reply