तेनालीराम की कहानियां – Best Collection of Tenali Raman Stories For Kids

** तेनालीराम की कहानियां **

tenali raman stories in hindi

Tenali Raman

दक्षिण भारत के कर्णाटक राज्य में स्थित विजयनगर सम्राज्य के सम्राट थे कृष्णदेव राय, जो अपने समय के एक प्रतापी और अत्यंत लोकप्रिय शासक हुए हैं | वे तुलुब वंश से संबंध रखते थे |

कृष्णदेव राय का शासनकाल 1509 ई. से 1530 ई. तक था, जिसे विजयनगर का स्वर्णिम काल माना जाता है | तेनालीराम इन्हीं महाराज कृष्णदेव राय के दरबार मुख्य विदूषक थे |

तेनालीराम कृष्णदेव राय के दरबार के रत्न थे | अन्य सभी दरबारी तेनालीराम से ईष्या करते थे और हर समय इसी कोशिश में लगे रहते थे की तेनालीराम को किस प्रकार महाराज की नज़रों में गिराया जाए |

किन्तु तेनालीराम अपने बुद्धि चातुर्य से न केवल उनकी सभी चालों को असफल कर दिया करते थे | बल्कि महाराज की दृष्टि में और भी ऊपर उठ जाया करते थे तथा पहले से अधिक धन और सम्मान पा लिया करते थे |

तेनालीराम विद्वता, सूझ बुझ और हाजिरजवाबी में महारत प्राप्त एक ऐसा व्यक्ति था, जिसकी बुद्धिमानी का लोहा सभी मानते थे | उनका वास्तविक नाम रामलिंग था | उनका जन्म गुंटूर जिले के गलीपाड़ू नामक कसबे में हुआ था, किन्तु पिता की मृत्यु के बाद उनका लालन-पालन उनके ननिहाल में हुआ |

उनका ननिहाल तेनाली के गांव में था | बाद में इस गांव के नाम पर ही उन्हें तेनालीराम के नाम से पुकारा जाने लगा |
तेनालीराम की तीव्र इच्छा थी की वे महाराज कृष्णदेव राय के दरबार में जाकर उन्हें सेवाए अर्पित करें |

इसके लिए उन्हें अनेक बाधाएं भी सहनी पड़ी, किन्तु अंतत: वे दरबार में अपना स्थान बनाने में सफल हो ही गए | अपनी बुद्धिमानी और चतुराई से उन्होंने शीघ्र ही महाराज का हृदय जीत लिया और उनके सबसे प्रिय दरबारी बन गए |  

महाराज कृष्णदेव राय और तेनालीराम में अक्सर नोक-झोंक चलती रहती थी तथा कई बार अन्य दरबारी भी तेनालीराम को निचा दिखाने के लिए नई-नई तिकड़में भिड़ाते रहते थे | जिन्हें तेनालीराम अपनी बुद्धिमानी से चुटकियों में हल करके अपने पक्ष में मोड़ लेते थे |

 तेनालीराम की ऐसी ही कहानियों का हमने यहाँ संग्रह किया हैं, और हम इस लिस्ट में रोजाना नयी कहानियों को डालते रहते हैं 

Stories of Tenali Raman–

सम्राट की वाह-वाह

में अकेला मुर्गा, तेनालीराम की कहानि

हम मर सकते हैं लेकिन वासना कभी नहीं मरती

तेनालीरमन और विजय नगर की सुंदरता

–Daily Stories

loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.