सपने में शिवलिंग देखना व शिव जी, जल चढ़ाना, डमरू का मतलब

सपने में शिवलिंग देखना भोलेनाथ, शिव पार्वती, या शिव परिवार, शिव अभिषेक का मतलब जानना हर कोई चाहता है, इनके कई अर्थ होते है. एक सही सपने का मतलब जानने के लिए जरुरी है की आप पहले अपने सपने को अच्छे से खुद ही समझ ले की आपने क्या-क्या देखा है उसके बाद यह भी पता करे की जब आपने सपने में शिव या शिवलिंग देखी थी वह कोन-सा वक्त था. क्योंकि ऐसा माना जाता है की अगर सुबह के वक्त यानी 5-4 AM के बाद सपना देखा जाए तो उसके सच होने की सम्भावना ज्यादा होती है वही इसके पहले देखा गए सपने ज्यादा प्रभावकारी नहीं होते.

इसलिए सपने में शिव देखने का मतलब जानने से पहले आप इन सभी चीजों को ध्यान में रख लें. शिव पार्वती या शिव की मूर्ति आदि देखना एक सकारात्मक संकेत होता है. इनका दर्शन हर रूप से लाभदायक, उन्नति करने वाला, परेशानियों का विनाश करने वाला होता है, चलिए आगे जानते है इनके सटीक मतलब रहस्य.

सपने में शिवलिंग देखना जल चढ़ाना का मतलब

sapne me shivling dekhna, सपने में शिवलिंग देखना, सपने में शिवलिंग पर जल चढ़ाना, sapne me shivling par jal chadhana

Sapne Me Shiv Ji Or Shivling Ka Phal in Hindi

सपने में शिव जी की तीसरी आंख देखना

sapne me shiv ji ki tisri ankh dekhna

सपने में भगवान भोलेनाथ की तीसरी आँख देखने का मतलब बड़ा फायदेमंद माना जाता है. इसका अर्थ होता है की आपका जीवन और जागरूक होने वाला है व जल्द ही अच्छी उन्नति प्राप्त करने वाले है. वही इसका दूसरा अर्थ भी होता है यह आपके जीवन की परिस्थिति पर निर्भर करता है, इसका दूसरा अर्थ होता की आप अपने जीवन के प्रति सतर्क व जागरूक हो जाए यही इसका स्वप्न फल है.

सपने में शिव जी का डमरू देखना

sapne me shiv ji ka damru dekhna

डमरू देखने का मतलब है की आपके जीवन में एक नै गती आने वाली है व आपमें नई ऊर्जा का संचार होगा, आपका कार्य अच्छे से पुरे होंगे, कार्य में आरही बाधा दूर होंगी, जीवन की परेशानी मिटेंगी आदि सपने में डमरू देखना सभी कष्टों को ख़त्म करने वाला होता है.

माता पार्वती जी और भोलेनाथ को देखे तो

sapne me shiv parwati dekhna, sapne me shiv pariwar dekhna, sapne me parwati ji dekhna

सपने में शिव पारवती को देखना दंपत्ति सुख, धन प्राप्ति, घर में अनाज की बढ़ना व पती पत्नी के प्रेम की और शुभ संकेत करता है. इस स्वप्न का अर्थ काफी लाभदायक होता है. अगर आपकी नई-नई शादी हुई है और आपने यह स्वप्न देखा है तो फिर समझिये आपकी जोड़ी काफी अनोखी है व आपका पूरा जीवन सफल बीतेगा.

शिव की जटा और गंगा

अगर सपने में शिव जी की जटा दिखे व उसमे पानी या गंगा बहती हुई दिखे तो यह बड़ा ही दुर्लभ स्वप्न माना जाता है. इसका अर्थ होता है की आपके जीवन में बुद्धि, ज्ञान, धन आदि की पूर्ण वृद्धि होगी. सपने में सिर मात्र का दर्शन करना ज्ञान का प्रतिक होता है. अगर आप इस जगह पर शरीर के दूसरे अंग को देखे तो जैसा अंग होगा वैसे ही उसका परिणाम मिलता है. अर्थात सिर में ज्ञान का स्त्रोत है इसलिए यहाँ ज्ञान की वृद्धि का फल बताया गया है.

स्वप्न में शिवलिंग देखे तो

sapne me shivling ka phal

सपने में शिवलिंग देखने का मतलब होता है की आपने पिछले जन्म में जरूर ही शिव की भक्ति की होगी, और यह स्वप्न उसी का परिणाम है. इस सपने का मतलब है की आपको अब ध्यान करना व ध्यान की अवधि बड़ा देना चाहिए व शिव की भक्ति में लीन होना चाहिए. यह एक सकारात्मक संकेत है इससे आपके जीवन की हर एक बाधा दूर होती है. इसके अलावा सफलता, उन्नति, धन लाभ होना आदि की तरफ भी सपने में शिवलिंग का दिखना इशारा करता है व यह सपना हर तरह से भाग्यवृद्धि का सूचक माना जाता है. एक तरह से भोलेनाथ की शिवलिंग को देखने यह इशारा है की उनकी कृपा आप पर बनी हुई है.

सपने में शिव तांडव देखे तो

sapne me shiv ji ka tandav dekhna

सपने में शिव का तांडव देखने का मतलब होता है की आपके जीवन की परेशानियां जल्द ही ख़त्म होने वाली है व आपको धन प्राप्ति भी होने वाली है. इसका दूसरा अर्थ यह भी होता है की आपको अपने जीवन में अब थोड़ा जूनून और तेजता दिखानी होगी व अपने जीवन की परेशानियों व कारोबार में जूनून के साथ काम करने की जरूरत है.

शिव जी के सिर का चन्द्रमा देखना

इसका अर्थ पढाई में उन्नति की और इशारा करता है. वही जो व्यक्ति पढाई नहीं कर रहे है उनके लिए इसका अर्थ अलग है, इसका अर्थ है की आपको अपने जीवन के आने वाले समय में जरुरी निर्णय करना पढ़ सकता है. सपने में शिव जी के सिर पर चन्द्रमा देखना कोई हानिकारक नहीं होता इसलिए आपको ज्यादा इस स्वप्न को लेकर तनाव नहीं लेना चाहिए.

सपने में शिवलिंग की पूजा करना

सपने में शिवलिंग पर जल चढ़ाना व पूजा करना इस अच्छा सपना होता है. ज्यादातर इस सपने को लेकर यह माना है की जब हम किसी मंदिर पर जाने की व उनके दर्शन करने की मन्नत करते है व फिर उसे पूरी नहीं करते तो फिर व्यक्ति को ऐसा स्वप्न आता है. तो ऐसे में आपको भगवान शिव पर जल चढ़ाना व उनकी पूजा की और ध्यान देना चाहिए साथ ही यह ध्यान दे की क्या अपने कहीं किसी मंदिर में कोई मन्नत मांगी थी ?

शिव भोलेनाथ का मंदिर

सपने में शिव जी का मंदिर देखने का मतलब होता है की आपके 2 पुत्र होंगे. इसके अलावा अगर कोई बीमार व्यक्ति यह सपना देखे व सपने में यह देखे की शिव जी का मंदिर लोहे में बदल रहा है तो इसका मतलब होता है की उसकी बीमारी जल्द ही ख़त्म होने वाली, अगर रोगी सपने में शिव का मंदिर देखे और उसकी बीमारी कई सालों पुरानी है तो वह भी जल्द ही ठीक हो जाती है. इसके अलावा सपने में इस तरह मंदिर दिखे तो आपको अगले दिन मंदिर में भोलेनाथ को प्रनामा करने के लिए अवश्य ही जाना चाहिए.

भगवान शिव का त्रिशूल देखने का मतलब

sapne me shiv ji ka trishul dekhna

सपने में शिव भोलेनाथ का त्रिशूल दिखे तो इसे भी शुभ शगुन माना जाता है. ऐसा माना जाता है की अगर कोई व्यक्ति सपने में त्रिशूल देखे तो ऐसा समझना चाहिए की उसके जीवन की समस्त बाधा जल्द ही खत्म होने वाली है. और अगर आपके जीवन में कोई मृत्यु का योग है तो इस स्वप्न को देखने से वह योग नष्ट हो जाता है यानी यह आपको नया जीवन प्रदान करता है इस तरह से स्वप्ने में भोलेनाथ का त्रिशूल हर तरह से शुभ शगुन होता है.

सपने में सांप देखना

अगर आप सपने में सांप देखते है तो इसके कई अर्थ होते है, वैसे भोलेनाथ के गले में सांप लपेटा हुए दिखना शुभ ही माना जाता है. इसके अलावा अगर आप सपने में सांप को बिना शिव जी के अकेले ही देखे तो इसके कई बुरे असर भी होते है. सांप से जुड़े सपनो के बारे में जानने के लिए आप यह पड़ें – सपने में सांप देखने का मतलब.

तो दोस्तों इस तरह सपने में शिवलिंग देखने का मतलब व शिव पार्वती, शिव परिवार, डमरू, तांडव, त्रिशूल, तीसरी आंख, मंदिर आदि सपने में शिव जी को देखना अर्थ व स्वप्न फल यह होते है. आप इस लेख को ज्यादा से ज्यादा बाटें ताकि यह जानकारी हर एक व्यक्ति तक पहुंच जाए जो व्यक्ति दुरसों का अच्छा सोचता है उसका और दुगना अच्छा होता है इसलिए शेयर करने में सोचे न.

loading...
loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.