RBI के 21 रोचक तथ्य – Most Interesting Facts About RBI

loading...

Top 21 RBI Interesting Facts in Hindi

rbi facts in hindi

  1. भारतीय रिज़र्व बैंक जिसे की English में Reserve bank of India कहा जाता है, जिसका short Name RBI है, भारत का केंद्रीय बैंक है, यह भारत के सभी बैंको का संचालक है.
  • भारत के सभी बैंको का संचालक होने के कारण ही इसे ”बैंको का बैंक” कहा जाता है.
  • RBI भारत की अर्थव्यवस्ता को नियंत्रित करता है.
  • RBI की स्थापना 1 अप्रैल 1935 को Reserve Bank of India Act 1934 के तहत हुई.
  • शुरुआत में RBI का केंद्रीय कार्यालय कोलकाता में था जो वर्ष 1937 में मुबई आ गया.
  • केंद्रीय कार्यालय वह कार्यालय है जहा गवर्नर्स बैठते है और नीतिया निर्धारित की जाती है.
  • उर्जीत आर पटेल RBI के वर्तमान गवर्नर है जिन्होंने 4 सितम्बर 2016 को ही अपना पदभार संभाला है.
  • RBI में पहले एक निजी बैंक था किन्तु सन 1949 से यह भारत सरकार का उपक्रम बन गया.
  • All India में RBI के कुल 22 क्षेत्रीय कार्यालय है जिनमे से ज्यादातर राज्यो की राजधानियों में स्थित है.
  • अपने शुरुआत के दिनों में RBI का logo east India Company की double मोहर से प्रेरित था, बाद में इस Logo में बदलाव किया गया.
  • RBI का कामकाज केंद्रीय निर्देशक बोर्ड द्वारा किया जाता है, भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम के अनुसार इस बोर्ड की नियुक्ति भारत सरकार द्वारा की जाती है. यह नियुक्ति 4 वर्ष के लिए होती है.
  • मुद्रा परिचालन एवं काले धन (Black Money) की दोषपूर्ण अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए RBI ने 31 मार्च 2014 तक सन 2005 से पूर्व जारी किये गए सभी सरकारी Notes को वापस लेने का निर्णय लिया था.
  • भारत में Financial Year 1 अप्रैल से 31 मार्च होता है, जबकि RBI का Financial Year 1 जुलाई से शुरू होकर 30 जून को समाप्त होता है.
  • Reserve Bank Of India केवल Currency नोटों की छपाई करता है जबकि सिक्को को बनाने का काम भारत सर्कार के द्वारा किया जाता है.
  • भारतीय रिज़र्व बैंक की पहली महिला डिप्टी गवर्नर K J Udeshi बनी थी, उन्हें वर्ष 2003 पर इस पद पर नियुक्त किया गया था.
  • RBI ने वर्ष 1938 में 5000 और 10000 के नोटों की भी की थी इसके बाद 1954 और 1978 में भी इन नोटों की छपाई की गई थी.
  • भारतीय रिज़र्व बैंक भारत के साथ ही 2 अन्य देशो के सेंट्रल बैंक के रूप में भी अपनी भूमिका निभा चूका है.
  • RBI अप्रैल 1947 तक म्यांमार और वर्ष 1948 तक पाकिस्तान का सेंट्रल बैंक भी रह चूका है.
  • भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह भी पूर्व में RBI के गवर्नर रह चुके है.
  • RBI का यह Rule है की यदि 1 से 20 रुपए तक का को नोट 50 % से कम फटा है तो बैंक आपको पुरे पैसे देगा लेकिन 50 % से अधिक फटा है तो बैंक आपको कुछ नही दे सकता.
  • Reserve Bank of India की history में दो गवर्नर ऐसे भी रहे है जो कभी नोटों पर हस्ताक्षर नहीं कर पाए. इनके नाम है K G Ambegaonkar और osborn orkal smith .

Also Read : Recommended

इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook, Twitter और Whatsapp Groups पर Share जरूर करें. Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करे.
loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.