सौंफ खाने के 25 फायदे जानिये | ‘Saunf’ Fennel Benefits in Hindi

सौंफ के गुण लाभ

Ayurvedic chikitsa में सोंफ (Fennel) को बुद्धिपूर्वक, कफनाशक, पाचन और नेत्र ज्योतिवर्धक बताया गया है | महर्षि चरक ने सौंफ को गर्भ का स्थापन और शूल का प्रशमन करने वाला बताया है | सौंफ का शरबत गर्मी और तेज़ प्यास को भी ख़त्म करता है |

यूनानी चिकित्सा के हिसाब से सौंफ का अर्क कफ और वात विकृतियों को जल्द से ख़त्म कर देता है | सौंफ की ख़ास क्रिया पाचनतंत्र पर होती है | खाना खाने के बाद रोजाना एक चम्मच सौंफ खाना जीवन स्वस्थ रखने का नियम है |

इस तरह सौंफ खाने से हम स्वस्थ रहेंगे, भोजन का पाचन होगा, गैस नहीं बनेंगी | विशेष रूप से स्त्रियों का मासिक धर्म सही और स्तनों में दूध की सही मात्रा, गर्भवस्था में गर्भपात की आशंका सभी दूर होती है | सोंफ के और भी बहुत से Fayde Fennel seeds benefits  होते हैं चलिये जानते हैं सोंफ/Saunf के फायदों के बारे में (Side effects Nuksan) |

Fennel Benefits in Hindi & Remedies

fennel seeds benefits in hindi

धूम्रपान से छुटकारा पाएं

काल नमक पिसा हुआ 2 चम्मच, सौंफ 4 चम्मच, अजवाइन 8 चम्मच सबको नीबू के रस में भिगोकर छाया में सुखाएं | जब भी तम्बाकू, जर्दा, गुटखा, बीड़ी, सिगरेट लेने की इच्छा हो, इसकी आधा चम्मच धीरे-धीरे चबाते हुए रस चूसते रहे | इस तरह एक दो सप्ताह सेवन करते रहने से धूम्रपान की आदत छूट जायेगी, धूम्रपान की इच्छा ही नहीं होगी, और पाचनतंत्र भी अच्छा होगा | (saunf ke achuk fayde)

पेशाब में जलन और पेशाब रुक-रूक-कर आना

आधा गिलास पानी में 4 चम्मच सौंफ भिगोकर 4 घंटे बाद सोंफ छानकर निकाल लें फिर इसको पीसकर इसी पानी में मिलायें फिर अपने टेस्ट के हिसाब से चीनी मिलाकर सुबह शाम रोजाना पिएं | इससे जरूर Benefit होगा |

पोष्टिक तत्वों का भंडार

सौंफ सेहत के लिये वाकई बहुत गुणकारी होता है | इसमें भरपूर मात्रा में पोष्टिक तत्व होते है | इसके पोष्टिक तत्वों में Protein, Carbohydrate , पानी, Lipid, Calcium, Iron, Magnesium, Phosphorus, Zink, Copper, Selenium, Potassium और Sodium होते है | Vitamin की भी यह अच्छी स्त्रोत है | इसमें विटामिन ‘C” Thiamine, Riboflavin, Vitamin B-12, A, B-6, Pholet और E पाएं जाते हैं |

आंखें आना और दुखना

आंखें आने पर 2 चम्मच सौंफ एक गिलास पानी में उबालकर, आधा पानी रहने पर रोजाना 2 बार पिएं | इसी पानी से आंखें बंद रखकर धोयें | इससे सूजन और जलन में लाभ होगा | आंखें जल्दी ठीक होंगी | (saunf fayde)

आंखों की रोशनी बढ़ायें

सामान मात्रा में सौंफ, बादाम गिरी, मिश्री, पीसकर मिलाकर इसकी 3 चम्मच फंकी गर्म दूध से रोजाना रात को सोते समय ले और कम से क़म 2 महीने तक लेते रहे | फंकी के बाद पानी नहीं पिएं | आंखों की रोशनी बढ़ेगी | शरीर पुष्ट होगा, स्मरण शक्ति भी बढ़ेगी |

उलटी आना, जी घबराना

Fennel benefits – गर्मी या सर्दी या किसी भी समय जी घबराता हो, बार-बार उलटी होती हो तो सोंफ और पोदीना दोनों को 20 ग्राम लेकर दो कप पानी में उबालें, आधा पानी रह जाने पर छानकर रोगी को पिला दें | तिन बार ऐसी ही मात्राएं दें, कुछ ही घंटो में रोगी स्वस्थ हो जायेगा |

स्मरण शक्ति बढ़ाता है

sonf ka gun -सामान मात्रा में सौंफ, मिश्री और बादाम गिरी सबको पीसकर मिलाकर रोजाना तिन चम्मच गर्म दूध से फंकी लेते रहने से स्मरणशक्ति बढ़ती है और सिरदर्द में लाभ होता है | अपनी स्मरण शक्ति को बढाने के लिए अपने वीर्य का दुरुपयोग न करें, अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी समरशक्ति घटती जाएगी और शरीरिक कमजोरियां आने लगेंगी |

सिर में जुए पड़ना

सौंफ पानी में डालकर चटनी पीसकर बालों की जड़ो में लगाने से जुए मर जाती है | इसके साथ साथ और जहरीले कीड़े भी मर जाते है |

बुखार आना

ज्यादा तेज़ बुख़ार होने पर 40 ग्राम सोंफ लें, उसे 2 गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें फिर दो-दो चम्मच बार-बार पिलाते रहे इससे बुढ़ार का तापमान नहीं बढ़ेगा |

माँ का दूध बढाने में सहयोगी

शिशु को दूध पिलाने के लिए मां का दूध बढ़ाने हेतु सोंफ, जीरा, मिश्री सामान मात्रा में पिसकर मिला लें | इसकी 2-2 चम्मच तिन बार दूध से रोजाना फंकी लें | इससे स्तनों में दूध की मात्र बढ़ेगी |

गर्भधारण

मोटी सोंफ पीसकर रख लें | इसकी एक चम्मच सुबह पानी से रोजाना चार महीने तक फंकी लें |इससे गर्भधारण की बाधाएं दूर होती है और गर्भधारण के अवसर बढ़ते हैं |

गौरवर्ण संतान

गर्भावस्था में 9 महीने तक भोजन के बाद सोंफ चबाते रहने से संतान गोरे रंग की होती है |

गर्भवस्था की उलटी

75 ग्राम सोंफ, 500 ग्राम दूध में अच्छी तरह उबालकर, छानकर अपने टेस्ट के हिसाब से मीठा मिलाकर तिन भाग करके हर 3 घंटे से तिन बार पिलाने से गर्भवस्था में होने वाली उलटी बंद हो जाती है |

गर्भधारण करने के लिये

बांझपन स्त्री अगर 6 ग्राम सोंफ का चूर्ण घी के साथ 3 महीने तक खाये तो जरूर ही गर्भधारण करने योग्य हो जाती है | यह कल्प मोटी स्त्रियों के लिए विशेष फायदेमंद होता है | अगर महिला दुबली-पतली हो तो उसमें शतावरी-चूर्ण मिलाकर देना चाहिए |
6 ग्राम शतावरी मूल का चूर्ण 12 ग्राम गूढ़ के साथ खाने से गर्भाशय की सब विकृतिया दूर होती है और गर्भ स्थापित हो जाता है |

ज्यादा नींद आना (अतिनिद्रा)

जिसे ज्यादा नींद आती हो और हर समय नींद की सुस्ती रहती हो तो आप 10 ग्राम सोंफ को आधा किलो पानी में उबालकर एक चौथाई रह जाने पर थोड़ा सा नमक मिलाकर सुबह-शाम 4 दिन तक पिलाएं इससे नींद काम आएगी |

Fennel Seeds Saunf Ke Fayde

saunf khane ke fayde labh

नींद न आना (अनिद्रा)

15 ग्राम सोंफ 400 ग्राम पानी में उबालें, एक चौथाई पानी रहने पर उसे छानकर गाय का 250 ग्राम दूध और 15 ग्राम घी और इनमें अपने टेस्ट के हिसाब से चीनी मिलाकर रोजाना सोते समय पिएं | इससे अनिद्रा की शिकायत समाप्त हो जाएगी |

शरीर में पसीना लाना

सोंफ पसीना निकालती है | बुखार आदि किसी भी रोग में पसीना लाना हो तो सोंफ का सेवन करें | इससे तीव्र पसीना आएगा |

खट्टी डकार कैसे दूर करे

चार चम्मच सोंफ एक गिलास पानी में उबालें | आधा पानी रहने पर स्वाद के हिसबस से मिश्री मिलाकर, छानकर पिये | अपच दूर होगी और खट्टी डकारे आना भी बंद हो जाएगी |

मुंह की बदबू दूर करें

मुंह से आने वाली बदबू लहसुन, प्याज, अपच से हो तो सेंकी सोंफ चार बार रोजाना खाएं |

पेट दर्द हो तो

सेंधा नमक और सोंफ को अच्छे से पिसलें और रोजाना 2 चम्मच की फंकी लें |
अगर पाचनक्रिया ख़राब हो गई हो और इससे पेट दर्द हो रहा हो तो सेंकी सोंफ खाएं | दर्द में लाभ होगा |

हिचकी दूर करे

सोंफ और चीनी सामान मात्रा में मिलाकर चबाने से हिचकी आना बंद हो जाती है |

कब्जे दूर करें

चार चम्मच सोंफ एक गिलास पानी में उबालें | जब आधा कप पानी रह जाए तो छानकर पिएं | कब्ज दूर हो जाएगी | और सोते समय एक चम्मच पीसी हुई सोंफ की फंकी गर्म पानी से लेने से जल्द कब्ज दूर होती है |

गैस और मल से बदबू आना

Fennel seeds ke benefits – भोजन नहीं पचने से खाया गया भोजन लम्बे समय तक पड़ा रहने से सड़ने लगता है | इससे शरीर में कमजोरी, पेट में भारीपन, उदासीनता बनी रहना आदि समस्या आती है | इन सब से बचने के लिए आप मोटी सोंफ 50 ग्राम, कच्चा जीरा 25 ग्राम, धनिया सूखा, कालीमिर्च, सोंठ, दालचीनी सबकुछ 5 ग्राम और छोटी इलाइची के दाने चौथाई चम्मच सबको पीसकर,

इस मिश्रण की एक चम्म्च उबलते हुऐ पानी के एक कप में डालकर आधा मिनट और उबालकर अपने टेस्ट के हिसाब से शक्कर डालकर ढककर रखें | हल्का गर्म रहने पर अपने टेस्ट के हिसाब से नीबू निचोड़कर खाने के आधे घंटे बाद छानकर एक महीने तक पिएं | खाना सही ढंग से पचेगा | पेट की साड़ी समस्याएं समाप्त हो जाएँगी |

आंव देकर आने वाले दस्त

दस्तों के साथ-साथ आंव भी आती रहती है, ऐसे दस्त लम्बे समय तक रहते हैं सरलता से ठीक नहीं होते | इनके लिए चिकित्सा लम्बे समय एक दो महीने तक करें | 50 ग्राम सोंफ रात को एक कप पानी में भिगोकर सुबह पानी छानकर सोंफ निकाल कर पिसलें और इसी पानी में घोलकर जितनी रोटी रोगी को खानी हो उतने आटे में यह पानी डालकर ही रोटी बनवाएं और रोगी को सिर्फ उसी आटे की रोटी खिलाएं |

फफूंद को दूर करें

सौंफ फफूंदनाशक होती है | सौंफ पानी में उबालकर फफुंग्रस्त जगह को धोयें और चटनी की तरह पीसकर रोजाना लगाएं |

ब्लड प्रेशर के लिये भी लाभदायक

50 ग्राम कच्ची सौंफ 50 ग्राम सेंकी हुई सोंफ, 100 ग्राम मिश्री सब पीसकर मिलाकर रोजाना 2 बार पानी से फंकी लें | इससे रक्तचाप में फायदा होगा | मधुमेह के रोगी इसे नहीं लें |

शक्तिवर्धक – शरीर में शक्ति आएगी

100 ग्राम सौंफ सेंक-कर रखें | रोजाना रात को 2 चम्मच चबाकर 1 ग्लास पानी पियें | 1 माह में ही कमजोरी दूर हो जाती है |

खून साफ़ रखेगा

खाना खाने के बाद रोजाना चार चम्मच सौंफ खाने से खून सांफ होता है | saunf top benefits for skin health in hindi me

गर्मी की फुंसियों को खत्म करें

चार चम्मच सौंफ और इतनी ही मिश्री पीसकर पानी में घोलकर रोजाना पिने या फंकी लेने से गर्मी के मौसम में होने वाली फुंसियों में फायदा होता है | फुंसिया जल्द ही खत्म हो जाती है |

loading...
error: Please Share This but dont Copy & Paste.