Ujjain Simhasth जानिये सिंहस्थ क्यों मनाया जाता हैं – With Short Mythological Story |

Ujjain simhastha 2016 – Kumbh Mela

सिंहस्थ – Ujjain में सिंहस्थ का भव्य आयोंजन ज़ारी हैं | यहां चार स्थानो पर कुंभ मेला लगता हैं- Haridwar, Prayag, Ujjain, और Nasik | उज्जैन कुंभ सिंहस्थ कहलाता हैं क़्योंकि यह ब्रहस्पति के सिंह राशि में आने पर होता हैं |

इसके अलावा सुर्य मेष राशी में और चंद्र तुला राशी में होते हैं | एक़ कथा हैं की समुद्र मंथन में अमृत का घडा (कुंभ) निकला, तो उसपर अधिकार करने के लिये देव दानव में संघर्ष होने लगा |

इस बीच इंद्र के ईशारे पर उनके पुत्र जयन्त घड़ा ले भागें यह संघर्ष बारह वर्ष तक़ चला | छीना झपटी में उस अमृत के घडे में से चार बूंदे चार जग़ह पर गिरि थी, जहां कुंभ का आयोजन हर बारह वर्ष में होता है |

उज्जैन में पिछ्ला कुंभ 2004 में हुआ था | ये मेले संसार के सबसे बडे मानविय जमावडे हैं | उज्जैन यानी अवन्तिका सप्तपुरियों में भी शामिल है और यहां महाकालेश्वर ज्योतिलिंर्ग भी हैं |’

Also Read : 

इस तरह युधिस्टर ने आधा युद्ध तो यूँही जीत लिया था.

जानिये क्या संकेत देते हैं सपने

कैसे पता लगाए आपकी GF FB whatsapp पर किससे बातें करती हैं

Share Now

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.