सपनो के जरिये पाए अपनी समस्या का समाधान – Muslim Tantra Swapna Phal

Ichha Purti Ki Dua in Hindi

Muslim dream interpretation in hindi आज के युग में हर व्यक्ति के मन को बहुत सी समस्याएं घेरे रहती है. ऐसी स्थिति में वह अन्तर्द्वन्द का शिकार हो जाता है. इस समस्या से बचने के लिए मुस्लिम तंत्र में एक ख़ास पद्धति है जिसे इस्लामी इस्तिखार या swapna phal कहते है. इसका उपयोग सही विधि के हिसाब से करके आप अपनी किसी भी समस्या, जिज्ञासा, प्रश्न या शंका का समाधान बड़ी आसानी से कर सकते हैं.

  • Safalta ke liye dua
  • zindagi badalne ki dua
  • khush rahne ki dua
  • achhi sehat ki dua
  • lambai, kad, badhane ki dua
  • motapa ghatane ki dua
  • vajan badhane ki dua
  • sukhi jivan ki dua
  • bimaariyon se chutkaara paane ki dua

आपकी जो भी इच्छा हो निचे बताई जा रही विधि को करके रात को सोते वक्त अपनी इच्छा को अपने जेहन में उतार लें, यानी जो आपको चाहिए उसी के बारे में सोचते-सोचते सो जाइये. ऐसा करने से जल्द ही आपकी इच्छा पूरी होगी. जैसी आपकी इच्छा होगी उस हिसाब से इसके पुरे होने में समय लगेगा. जल्द बाजी न करें.

इस्लामी इस्तिखार के लिए रात को ईशा की नमाज पढ़कर फिर से वुज्ज़ु करके दो वक्त नमाजे-अफल इस्तिखार पड़े. इसके बाद 1-1 बार ‘दूर शरीफ’ और अग्रावत दुआ पढ़कर किसी पाक-साफ़ स्थान पर सो जाए.

दुरूद शरीफ और दुआ पढ़ने के दौरान अपनी समस्त समस्या आदि अपने जेहन में जरूर रखें. खुदा ने चाहा तो पहली रात में ही स्वप्न में आपको आपकी समस्या का समाधान ज्ञात हो जाएगा. अगर उस रात कोई समाधान न हो पाए तो आगामी 3 दिनों तक यही प्रयोग करें. आपकी जो भी समस्या, प्रश्न, जिज्ञासा या शंका होगी, उसका परिणाम मालुम हो जाएगा. दुरूद शरीफ के बाद पढ़ी जाने वाली दुआ इस तरह हैं.

अल्ला हम्म इन्नी अस्तखीरुका बीईल्मीका व अस्तकदिरुक बिकूदरातिका व असलूका मिन फजलिकल आजिमी फैन्नका तक़दीरू वला अकादिरु व तालुम वला आलुम अन्ता अल्लामुल गुयुब! अल्ला हुम्मा इन कुंता तालमू इन्ना हाजल अमरा खैरून ली फि दिनी व मआशी व आक़िबति अमरी फ़ि आजिली अमरी व आजीलिही फ़किदरहू ली व यस्सिरहू ली सुम्मा बारीक ली फही व इन कुंता तालुम अन्ना हाजल अमरा शर्रुनली फ़ि आजिली अमरी व आजीलिही फसरिफ़हु अन्नी व असरीफनी अन्हु व वक़दूर लिलखैरा हैसू काना सुम्मा अरजिनी बिहि बिहक्की मुहम्मदुर्रसूलिल्लाही सल्लल्लाहु तआला अलैयहि व आलिही व असहाबिहि अजमईन.

Also Read: 

नमस्ते दोस्तों हमसे Facebook पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे. हमारा Group Join करे और Page Like करे. "Facebook Group Join Now" "Facebook Page Like Now"
loading...

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Share This but dont Copy & Paste.