श्रम और सफलता, Inspirational Life Struggle Story in hindi

Life Struggle Story in Hindi

श्रम और सफलता

बाबर ने बहुत बार भारत पर आक्रमण किया लेकिन वह हर बार असफल रहा । निराष, हताश वह पहाड़ों की गुफाओं में लेटा था। तभी उसका ध्यान एक मकडी पर गया।

वह बार-बार दिवार की छत पर जाने के लिए चढती पर गिर पडती लेकिन उसने साहस नहीं छोडा। आखिर में वह छत पर पहूंच गयी । बाबर की चेतना में सहसों बिजलियों का प्रकाश कोंध गया।

वह मकडी उसके लिए प्रेरणास्त्रोत inspiration बन गई थी । बाहर आकर उसने अपने सेनापतियों को पुकारा । और उसी वक़्त दुगने उत्साह passion के साथ इब्राहिम लोधी पर आक्रमण किया।

इतिहास गवाह हैं कि बाबर का यह आक्रमण भारत में मुगल साम्राज्य के लिए नींव का पत्थर साबित हुआ। struggle एक अनमोल मंत्र हैं वह कभी खाली नहीं जाता।

लेकिन कुछ लोग परिश्रम करते हैं तो जैसे रोते हुए। निराषा और हताषा में झुलते हुए लेकिन ऐसे लोग कभी सफलता और कर्म या सुख नहीं पा सकते ।

भ्रम का सुख उन्हें मिलता है जो हर काम को पर्व की तरह संपन्न करते है। श्रम को अपने जीवन का एक निष्चित नियम बना लेना चाहिए । जिस प्रकार समय पर नित्य सूर्योदय होता हैं, सूर्यास्त होता है।

समय पर मौसम आते है, व समय पर बदल जाते है। ठीक इसी प्रकार हमें प्रत्येक कार्य को कितना समय देना है? और उस पर कितना श्रम करना है। यह सुनिष्चित कर लेना चाहिए ।

असली लोग सदा अपने भाग्य के उपर निर्भर रहने के कारण असफल रहते है। व अपनी हर सफलता की जिम्मेदारी अपने भाग्य के माथे मढ देते है। एक बार भी वे नही सोचते कि मनुष्य का सबसे बडा क्षत्रु और उसकी समस्त असफलताओं का जिम्मेदार उसके स्वयं का आलस्य है।

भगवान राम व कृष्ण का जीवन श्रेष्ट श्रम का सर्वात्तम उदाहरण है। श्रम करने से तनमन की उत्फुल्लता और स्वास्थ्य प्राप्त होता है। जितना भी हम श्रम करेंगे, हमारा अन्तर्मन उतना ही किसी गहरे आनन्द और संतोष के रस में भीग जायेगा |

 

loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.