कम सोने से होते हैं यह 5 नुकसान – Big Health Loss Of Lack Sleep

Lack Of Sleep Damages Your Health

kam nind ke nuksan lack of sleep loss

Kam Nind Lene Se Hote Hai Yah Nuksan

Padiye – Kam nind lene se hone wale nuksan ke baare mein. वैसे तो 8 घंटे की नींद आदर्श मानी जाती हैं | लेक़िन जब अनीयमित जीवनशेली के चलते शरीर की जैवीक घडी बिगड़ती हैं, तो नींद ही नहीं शरीर की सभी कार्यप्रणाली पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता हैं. पूरी नींद नहीं हो पाना, यानि कई स्वास्थ्य समस्याओं को बढावा मिलना हैं. health loss of lack sleep symptoms & side effects.

तो आईये जानते हैं क़ी नींद की कमी क़्या-क्या नुक़सान करती हैं और इस कमी क़ी पुर्ति के लिये क़्या करना चाहिए.

समय से पहले झुर्रिया पढ़ना

Lack Of Sleep Increase Skin Problems – रात को क़म नींद लेने से शरीर में CRM Cortisole नामक तनाव Harmone की मात्रा बढ़ जाती हैं. इसकी अधिकता से त्वचा का लचिलापन बरक़रार रखनें वाला Colegen नामक Protein टूटने लगता हैं, जिससे झुर्रियां पड़ने लगती हैं. त्वचा और आँखों में सुजन या उनके निचे जले घेरे जैसे लक्षण भी उभरने लगतें है.

क़म नींद से बढ़ता हैं वज़न

It Can Increase your Weight & Fat -अधूरी नींद का सम्बन्ध वज़न बढ़ने से भी होता हैं, क्योंकि ऐसे में भूख़ काफ़ी बढ़ जाती हैं. एक़ शोध के अनुसार जो लोग 6 या इससे क़म घंटे सोते हैं, उनमें मोटापे की आशंका 30 फीसदी ज्यादा होती हैं. Grelin नामक Harmone भूख बढ़ाता हैं.

विशेषज्ञों के मुताबिक़ क़म नींद होने पर Grelin की सक्रियता बढ़ जाती हैं, जिससे भूख़ पर नियंत्रण रहता हैं | वही, मस्तिश्क के उस हिस्से की क्रियाशिल्ता क़म हो जाती हैं, जो भूख़ की संतुष्टि का एहसास करवाता हैं. kam sone ke nuksan side effects.

दिमाग की बढ़ती हैं मुश्किलें –

Damages Mind Power – नींद की कमी मस्तिष्क सम्बंधित उन सभी कार्यप्रणाली को बाधित करती हैं, जैसे एकाग्रचित्त होने, सोचने-समझनें, सीखनें, याद रखने और समस्याओं को सुलझाने की क्षमता में कमी आना आदि. ईतना ही नहीं, ऐसी स्थिती में व्यक्ति की स्मरणशक्ति स्थायी रुप से कमज़ोर होने लगती हैं.

कमज़ोर प्रतिरोधक क्षमता –

शरीर की प्राकृतिक रोग प्रतिरोधक Immune System क्षमता बाहरी संक्रमण, यानि नुकसानदायक Bacteria, Virus, Fungus आदि से बचाव में महतवपूर्ण भूमिका निभाता हैं. लेक़िन अधूरी नींद से इस क्षमता पर बहुत नकारात्मक असर पढता हैं, जिससे व्यक्ति के बिमार पड़ने और cyanosite या Asthma जैसी Allergie से पीड़ित होने की आशंका भी बढ़ जाती हैं.

तनाव का बड़ा कारण

Anxiety Problems – नींद पूरी नहीं होने पर हमारे मस्तिश्क की कार्यक्षमता पर बुरा असर पडता हैं | ऐसे में ख़राब मनोदशा, चिढ़चिड़ापन या ज्यादा गुस्सा आने जैसे व्यवहारगत परीवर्तन होते हैं. साथ ही पिडित तनावग्रस्त रहने लगता हैं. अग़र नींद संबंधी अनियिमितता अधिक समय तक लगातार बनि रहे, तो तनाव, अवसाद में तब्दील हो सकता हैं | इसलिए भरपूर मात्र में नींद लेना न भूले.

loading...
error: Please Share This but dont Copy & Paste.