हाथ पैर की टूटी हड्डी जोड़ने के इलाज की दवा और उपाय

हाथ पैर की हड्डी टूटने पर इलाज और उपाय – हड्डियां हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जिनका वास्तविक काम हमारे शरीर को एक आधारभूत ढांचा और एक सही आकार प्रदान करना होता है. हड्डियों में लचीलापन लगभग ना के बराबर होता है और इसी कारणवश वह बहुत ही जल्दी टूट जाती है. हड्डी जल्दी जोड़ने के घरेलु उपाय में हम आपको एस नुस्खे बताएंगे जिनसे आप जल्दी टूटी हुई हड्डी जोड़ पाएंगे. हड्डी का टूटना बहुत तकलीफ देता है और शरीर की मजबूती पर भी नकारात्मक असर करता है. इसको जल्दी जोड़ने के लिए कई हड्डी जोड़ने की दवा भी लेते है.

हड्डियां हमारे शरीर का सबसे मजबूत अंग होती हैं और इस कारणवश वह शरीर का सभी भार उठाते हैं. लचीली चीजें जल्दी नहीं टूटती है. हड्डी टूटना यूं तो कोई लाइलाज बीमारी नहीं होती. कुछ ही दिनों में स्वत: हड्डी जुड़ जाती है. परंतु हड्डी का टूटना बहुत ही दर्द भरा होता है. और यदि आपकी हड्डी कुछ इस तरह से टूटी है कि उसका जोड़ना मुश्किल हो तो आपका जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल हो जाता है Broken bone treatment with ayurvedic remedies in Hindi.

इसलिए कोशिश करें की इस बीमारी से आप बचे रहें. आज हम आपको बताएंगे हड्डी टूटने के लक्षण कारण और कुछ सरल हड्डी जोड़ने का तरीका जिनका इस्तेमाल करके आप अपने हड्डी को बहुत सरलता और शीघ्रता से जोड़ सकते हैं. साथ ही इसमें क्या खाये क्या नहीं खाना चाहिए और टूटी हड्डी जुड़ने का समय कितना लगता है आदि हड्डी फ्रैक्चर चिकित्सा के बारे में पूरी जानकारी देंगे.

हाथ पैर की हड्डी टूटने पर इलाज और दवा

हड्डी टूटने पर उपचार, tuti haddi ka ilaj, हड्डी जोड़ने की दवा, टूटी हड्डी जुड़ने का समय

हड्डी टूटने के लक्षण

 हड्डी के आस-पास दर्द महसूस होना
 हड्डी के आसपास सूजन आ जाना
 हड्डी से चटकने की आवाज सुनाई देना
 किसी अंग का असामान्य रूप से मुड़ा हुआ दिखना
 अंग में विकृत रूप दिखाई देना
 हड्डी के पास की त्वचा का नीला हो जाना
 हड्डी के पास से खून का निकलना
 हड्डी के टुकड़े का त्वचा के बाहर निकला होना
 बहुत असहनीय दर्द होना
 आसपास के हिस्सों में अकड़न आ जाना

हड्डी टूटने के कारण

 किसी चोट के कारण
 अचानक गिरने के कारण
 अधिक उपयोग के कारण
 उम्र बढ़ने के कारण
 अधिक दबाव नहीं झेल पाने के कारण
 हड्डियों के कमजोर होने के कारण
 ऑस्टियोपोरोसिस के कारण
 किसी दुर्घटना के कारण

वैसे यह सभी प्राथमिक उपचार है, बाकी आप जल्द डॉक्टर से मिलकर प्लास्टर लगवाए ताकि हड्डी पहले की तरह सही जुड़ सके.

बचाव Tips :

  • हड्डी टूटने पर घरेलु उपचार में सबसे पहले अपने हड्डियों को मजबूत करने के लिए आप पर्याप्त कैल्शियम की आपूर्ति करें. कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा पाने के लिए दूध दही पनीर और कैल्शियम के स्रोत वाली सब्जियों का सेवन करें. इसका सेवन करने से आपकी हड्डियों स्वस्थ रहेंगे. चुने में बहुत मात्रा में कैल्शियम होता है, चने बराबर चुना रोजाना खाये.
  • मछली खाये, हरी पत्तेदार ताज़ा सब्जी खाये, डेरी प्रोडक्ट्स खाये, जिनमे कैल्शियम ज्यादा मिले वह खाये, पनीर, दही, दूध पिए.
  • टूटी हड्डी का इलाज में ज्यादा से ज्यादा विटामिन डी के स्रोत का सेवन करें. विटामिन D की आवश्यकता कैल्शियम को अवशोषित करने के लिए होती है. वह सभी चीजे हड्डी टूटने पर क्या खाएं जिनमे कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है.
  • हड्डियों को दबाव झेलने के लायक बनाने के लिए व्यायाम करते रहे.
  • शारीरिक गतिविधियों को किसी भी प्रकार से कम ना होने दें.

Tuti Haddi Ka ilaj Jodne ke Gharelu Upay

 हड्डी टूटने पर इलाज में एक प्याज ले और उसे पीस लें. अब इसमें लगभग एक चम्मच हल्दी मिलाएं और इस पूरे मिश्रण को कपड़े में बांध लें. अब इसे तिल के तेल में रख कर गर्म करें और फिर चोट वाली जगह पर सिकाई करें. सिकाई करने के बाद इससे उसी स्थान पर बांधे.

 हड्डी टूटने पर बर्फ से सिंकाई करे. बर्फ से सिकाई बहुत सारी बीमारियों को दूर कर देता है. हड्डी टूटने वाली जगह पर सूजन आ जाती है. सूजन को कम करने के लिए बर्फ से सिकाई करें. बर्फ से सिकाई करने पर सूजन कम होगी और हड्डी का टूटना पर दर्द से भी राहत मिलेगी.

 लगभग एक चम्मच पिसी हुई हल्दी में एक चम्मच पिसा हुआ गुण और दो चम्मच देसी घी को मिलाएं. अब इस मिश्रण को लगभग एक कप पानी में डालें और उसे आग पर चढ़ा दे. इस मिश्रण को तब तक उबालें जब तक यह आधा न रह जाए. अब इस मिश्रण का सेवन करें.

 टूटी हड्डी का उपाय – यदि हड्डी बहुत अधिक टूट गई हो तो यह हड्डी टूटने पर उपचार करे. संजीवनी के पत्तों का रस निकाल ले. इस रस से टूटी हुई हड्डी वाली जगह पर लेप करें जिससे खून रुक जाएगा. लेप करने के बाद उस जगह को बांस की डंडियों से बांध दे ताकी हड्डी हिले-डुले नहीं. यह हड्डी सही करने का अच्छा तरीका है.

 हड़जोड़ एक हड्डी जोड़ने की जड़ी बूटी है, यह बहुत तेजी से टूटी हड्डी जोड़ने में मदद करती है. इसको आप किसी जड़ी बूटियों की दुकान से खरीद लें और इसका लैप बनाकर टूटी हड्डी पर लगाए या पानी के साथ इसका सेवन करे.
विधि : हड़जोड़ को सूखा कर इसमें उड़द मिला कर अच्छे से बारीक़ पीस ले और पेस्ट जैसा कर लें. अब इस पेस्ट को हड्डी पर लगाकर किसी कपडे से बांध दें. ऐसा दिन में दो बार करना होता है. और इसका प्रयोग एक महीने तक लगातार करना होता है.

 लहसुन और पीपल दोनों को डेढ़ डेढ़ (125 ग्राम) ग्राम ले. अब इसमें 2 ग्राम शहद और 4 ग्राम घी मिलाएं. प्रातः काल इस मिश्रण का सेवन करने से आपको जल्दी ही टूटी हुई हड्डी में असर दिखाई देगा. यह उपाय टूटी हुई हड्डी को जल्दी जोड़ता है.

 गेहूं के हलवे को बनाकर उसका सेवन करें. यह हलवा चीनी से बनाने के बजाय गुड़ से बनाएं. इसे खाने से दर्द में लाभ होता है और हड्डियां जल्दी जुड़ती हैं.

 लगभग 10 ग्राम गेहूं की राख लें और उसे उतने ही शहद में मिलाकर चाट ले. यह उपाय हड्डी जल्दी जोड़ने के साथ-साथ कमर और जोड़ों के दर्द में भी बेहद लाभकारी होता है.

 यदि किसी व्यक्ति की हाथ पैर की हड्डी कमजोर हो या दांत कमजोर हो तो उस व्यक्ति को रोजाना दिन में दो बार खास तरह का जूस पिलाएं. यह जूस बनाने के लिए एक पपीते और एक अमरुद, आधा कप गाजर व आधा कप आंवले का रस मिला ले. इस प्रकार से जूस तैयार करके आप इसका सेवन कर सकते हैं. यह रस हड्डी टूटने पर घरेलु इलाज में बहुत उपयोगी होता है.

 यदि शरीर के किसी भी भाग की हड्डी टूटी हो, इसमें मेथी के दाने का सेवन करना बहुत लाभकारी होता है. हड्डी जोड़ने के उपाय में मेथी दाने बहुत तेज काम करता है.

टूटी हड्डी जोड़ने के उपाय जड़ी बूटी

 अशोक के पेड़ की छाल निकाल ले और उसे पीसकर उसका चूर्ण बना लें. अब करीब 5 ग्राम चूर्ण ले और इसे दूध के साथ सुबह शाम पिएं. इसे पीने के अलावा हड्डी के ऊपर इस अशोक की छाल के चूर्ण का लेप करें. इस उपाय से भी टूटी हुई हड्डी जल्दी जुड़ती है और दर्द भी शांत होता है.

 अर्जुन के पेड़ की छाल लें और उसे पीसकर टूटी हुई हड्डी के ऊपर लेप करें. इस पिसी हुई छाल की लगभग 10 ग्राम ले और इसे दूध में खीर पाक विधि से पकाएं. पकाने के बाद इसे सुबह-शाम खाएं. यदि आप इसके सूखे पाउडर का सेवन करना चाहते हैं तो इसकी केवल 1 से 3 ग्राम की मात्रा का ही सेवन करें. टूटी हड्डी जोड़ने के लिए इलाज में अर्जुन पेड़ की छाल बहुत उपयोगी होती है.

 काली मूसली का फल पीछे और चोटिया हड्डी टूटी हुई जगह पर इसका लेप करें.

 बबूल के बीज ले और उसे पीसकर निकाल ले. अब इसका सेवन शहद के साथ करें इससे हड्डी जल्दी जुड़ेगी और साथ ही साथ मजबूत भी होगी.

 बबूल के बीज लें और उसका चूर्ण बना लें. इस चूर्ण का सेवन सुबह शाम नियमित रूप से एक-एक चम्मच करें इससे हड्डी जल्दी जुड़ेगी.

 लगभग 5 ग्राम पिठवन की जड़ों का चूर्ण बना लें. अभी से 2 ग्राम हल्दी में मिलाएं और लगभग 20 से 30 दिन तक इसका सेवन करें. इसके सेवन से हड्डियों के रोग में बहुत ज्यादा लाभ मिलता है.

टूटी हड्डी जुड़ने का समय टाइम

  • फुट = 3-12 सप्ताह का समय
  • पैर की अंगुली की हड्डियां = 3-4 सप्ताह
  • कॉलरबोन = 4-8 सप्ताह का टाइम
  • कंधे-ब्लेड = 6-8 सप्ताह
  • ऊपरी बांह = 4-10 सप्ताह
  • लोअर बांह = 5-8 सप्ताह
  • कलाई = 4-12 सप्ताह
  • फिंगर हड्डियां = 3-6 सप्ताह
  • ऊपरी पैर = 12+ सप्ताह
  • निचले पैर = 4-24 सप्ताह
  • टखने = 6 सप्ताह
  • हड्डी जुड़ने का टाइम

तो दोस्तों इस तरह आप Tuti haddi ka ilaj के उपाय दवा आदि का प्रयोग कर बड़ी आसानी से अपने शरीर की सुरक्षा कर सकते हैं. और हड्डियों को मजबूती देकर जल्दी हड्डी जोड़ सकते है.

यह सभी घरेलु नुस्खे हड्डी हाथ पैर की टूटने पर घरेलु उपचार में बेहद लाभप्रद है, इसके अलावा हाथ या पैर की हड्डी टूटी हो तो आप जब तक वह ठीक से जुड़ न जाए तब तक उसे पूरा आराम दें. जितना आराम देंगे उतने जल्दी हड्डी जुड़ेगी.

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.