जॉर्ज बर्नार्ड शॉ के 3 प्रेरक प्रसंग – George Bernard Shaw Life Stories

loading...

George Bernard Shaw Life Stories

George Bernard Shaw Life Stories

प्रेरक प्रसंग – 1 

सौंदर्य प्रेमी शॉ

Georges Bernard Shaw के बारे में प्रचलित था की वह सौंदर्य प्रेमी थे | उनका अपना विचार भी यही था की जीवन के लिए सौंदर्य व साहित्य ही दो ऐसे तत्व हैं जो परम आवश्यक हैं |

उनसे मिलने एक व्यक्ति आया और बोला, ‘आप तो सौंदर्य प्रेमी हैं | फिर भी आपके इस कक्ष में एक पुष्प भी कहीं दिखाई नहीं दे रहा |’

शॉ बोले, ‘श्रीमान सुन्दर तो मुझे आप भी लगते हैं | लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं की में आपका शीश काट-कर किसी अच्छे से पात्र में सजाकर अपने कक्ष में रखु | उनके इस चुटीले व्यग्यं को सुनकर वह व्यक्ति शर्म से गड गया |

प्रेरक प्रसंग – 2

वेशभूषा नहीं, योग्यता है मूल्यवान

Georges Bernard Shaw को एक महिला ने भोजन पर आमंत्रित किया | शॉ ने उसका आमंत्रण स्वीकार कर लिया, जबकि उन दिनों वह व्यस्त चल रहे थे | जिस दिन उन्हें महिला के यहाँ जाना था, उस दिन भी वह कार्य में व्यस्त थे | फिर समय निकालकर वह उसके घर पहुंचे वह महिला उन्हें देखकर प्रसन्न तो हुई, लेकिन उनके पहनावे को देख-कर खिन्न हो गई और बोली, ‘मेरी गाडी में अभी वापस जाइए और वेशभूषा बदलकर आइए |’

‘ठीक है |’ कहकर शॉ गाड़ी में बैठकर चले गए | कुछ ही समय बाद वह कीमती वेशभूषा पहनकर आए | वह भोजन स्थल पर गए और जितने भी पकवान बने थे, उन सबको अपने कपड़ों पर डाल लिया | वह कहते जा रहे थे, ‘खूब खाओ | यह भोजन तुम्हारे लिए ही है |’

जब लोगों ने देखा तो पूछा’ आप यह क्या कर रहे हैं ?’
शॉ बोले, ‘दरअसल निमंत्रण मुझे नहीं मेरी वेशभूषा को मिला है | इसलिए में तो वहीँ कर रहा हूँ, जो मुझे करना चाहिए |

उनके ऐसा कहने पर वहां चुप्पी छा गई | इधर निमंत्रण देनेवाली महिला को शर्मिंदगी उठानी पड़ी | वह जान गई की किसी भी व्यक्ति का मूल्यांकन उसकी योग्यता से किया जाना चाहिए न की उसकी वेशभूषा से |

प्रेरक प्रसंग – 3

शॉ का सन्देश

एक युवक सुप्रसिध्द अंग्रेजी नाटक-कार जॉर्ज बर्नार्ड शॉ के पास औटोग्राफी बुक लेकर गया और उसने निवेदन किया की आप नवयुवकों के लिए कोई भी सन्देश इसमें लिख कर अपने हस्तक्षर कर दें |

शॉ ने युवक से हस्ताक्षर पुस्तिका ली और उसमें लिखा, ‘दूसरों के हस्ताक्षर एकत्रित करने में अपना समय बर्बाद न करें | बेहतर होगा की स्वयं को ही इतना योग्य बना लें की लोग तम्हारे हस्तक्षर के लिए ललचाने लगें |’

इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook, Twitter और Whatsapp Groups पर Share जरूर करें. Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करे.
loading...

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.