हींग खाने के 25 फायदे और लाभ जानिये – Hing Ke Benefits in Hindi

loading...

Read Hing Ke Benefits in Hindi Fayde

hing benefits in hindi

हींग के बिना सब्जी के स्वादिष्ट बनने की कल्पना भी नहीं की जा सकती हैं | ज्यादातर लोगों को हींग के औषधीय गुणों के बारे में पता ही नहीं है होता है वे केवल रसोईघर का मसाला ही समझते है |

Ferula Foetida पोधे से रस निकालकर, उसे सुखाकर स्वादिष्ट हींग बनाई जाती है यह पौधा ईरान और बलूचिस्तान आदि देशों के पहाडीय इलाकों में पाई जाती हैं | हींग का उपयोग बहुत सी आयुर्वेदिक औषधियों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है | आइये जाने हींग के गुणों के बारे में.

शुद्ध हींग की पहचान कैसे करे

How to Identify Pure Hing asafoetida – शुद्ध हींग भुरा या बादामी रंग का ललाए लिए तेज सुगंध वाला होता हैं | हींग पानी में घुल जाता है और पानी का रंग दूधिया, भूरा, पिला सा हो जाता है | यह गर्म घी में डालने पर लावा की तरह पिघल जाता है | आग में जलाने पर कपूर की तरह, तेल की तरह जल जाता है | हींग का स्वाद कड़वा और लहसुन जैसी तेज गंध वाला होता है |

हींग अगर हाथ में लेकर मलने पर तेल के रूप में बदल जाए तो समझो हींग शुद्ध है | हींग को जलाने पर उसका कोई अवशेष नहीं बचता | asafoetida Ke Best benefits janiye.

काम वासना जाग्रत करना हो तो

हींग को घी में भूनकर चने के बराबर मात्रा में रोजाना तिन बार पति-पत्नी पानी से फांकी लें (खाले) इससे आपस में मिलते ही दोनों उत्तेजित हो जायेंगे |

डेंगू, वायरल, मलेरिया, मच्छरों से फैलने वाला बुखार

हींग की बदबू से मच्छर भी भाग जाया करते हैं | और कमरे में हींग का धुंआ करे, हींग कपडे में लपेटकर जेब में रखें, हींग का रोजाना खाने के साथ सेवन करें | इससे कीटाणुओं का शरीर पर असर नहीं पड़ेगा | डेंगू में लोग यह प्रयोग जरूर करें | (Hing benefits)

Hing Asafoetida Seeds Benefits in Hindi

सिरदर्द को ख़त्म करें

सर्दी से सिरदर्द हो या और कोई कारण से हो तो हींग और सौंठ पीसी हुई गर्म पानी में घोलकर दर्द वाली जगह लैंप करे | मूंग की दाल के बराबर हींग पर नमक लगाकर उसे चूसें और पानी पिएं | जल्द ही सिरदर्द ठीक हो जायेगा |

hing khane ke fayde labh

लिंगोत्थान की कमी

अगर पत्नी (wife) से मिलते समय उत्थान नहीं हो पाता हो, कड़ापन कमजोरी हो तो हींग को पानी में घोलकर लगाने से उत्थान, कड़ापन आ जाता है | (labh)
मर्दानशक्ति बढ़ाये – मर्दानगी हींग बढ़ाता है, इन्फ्लूएंजा को ठीक करता है | इसे इन रोगों की अन्य औषधियों में मिलाया जाता है

गैस से छुटकारा

  • हींग में काला नमक मिलाकर सेवन करने से पाचनशक्ति तिन गुना बढ़ जाती हैं | हींग में पेट की गैस को निकालने की विशेष शक्ति है | हींग खाद्य पदार्थों से मिलने वाले प्रोटीन, वसा, carbrohydrit को पचाने में मदद करता है |
  • हींग एक चौथाई ग्राम, दो ग्राम राई के साथ पीसकर गर्म पानी से फंकी लें | (asafoetida seeds in Hindi)
  • सब्जियों में हींग का छोंक लगाएं | पेट में गैस भरने पर हींग सेंककर चने की दाल से भी कम मात्र में ज़रा से काले नमक में मिलाकर गर्म पानी से फंकी लें |

पेट दर्द और डकारें

हींग को गर्म पानी में घोलकर नाभि के आस-पास लैंप करें या हींग के पानी में कपड़ा भिगोकर पेट पर रखें और भुना हुआ हींग आधा ग्राम किसी भी चीज के साथ खाने से फायदा होता है | इसके सेवन से भूख बढ़ती है | अगर पेटदर्द वायु रुकने से हो तो 2 ग्राम हींग आधा किलो पानी में उबालें | चौथाई पानी रहने पर गर्म-गर्म पिला दें | गैस वाले रोगी सब्जी में हींग डालकर रोजाना खायें |

हिचकी और डकार

गैस पेट में इकट्ठी होने से हिचकी और डकारें आती है | हींग को पानी में घोलकर पेट पर लगाएं और मूंग की दाल के बराबर हींग केले में रखकर खायें | अगर 15 मिनट में फायदा नहीं हो तो एक बार फिर से खायें |

दांत दर्द को दूर करें

दांत दर्द होने पर हींग में जरा-सा कपूर मिलाकर दर्द वाली जगह पर लगाने से दर्द बंद हो जाता है | हींग गर्म पानी में घोलकर कुल्ले करें | हींग पर निम्बू का रस डालकर पीसकर हल्का सा गर्म करके इसे रुई की फुरेरी से दांत दर्द पर लगाएं, छेद में रुई भर दें | इससे दर्द जल्द ही ठीक हो जायेगा |

शक्तिवर्धक होती है हींग

हींग घी में भुनी हुई छठे चम्मच, कालीमिर्च, पीपल, सौंठ सभी एक-एक चम्मच, सबको मिलाकर पीसकर एक मटर के दाने के बराबर यह पाउडर रोजाना एक बार खाना खाने के बाद शाम को गर्म पानी से फंकी लें | चीनी की जगह पर शहद मिलाकर दूध पियें | हर तरह की कमजोरी दूर हो जाएगी |

घाव को ठीक करता है

hing ke gharelu nuskhe – हींग के फायदे अगर घाव में कीड़े पड़ गए हो तो निम की पत्तियों से उबले हुए पानी से घावों को धोकर हींग पीसकर घावों पर भुर्काएं | हींग में रोग – प्रतिरोधक गुण होते है इसलिए यह घावों को जल्द ही ठीक कर देता है|

मलेरिया बुखार से छुटकार दिलाये

मलेरिया अब काफी रफ़्तार से फेल रहा है इसके लिए रोजाना सब्जी में हींग डालकर खाना खाने से मलेरिया से बचाव होता है | अदरक के एक चम्मच रस में जरा सा हींग डालकर खाने से ज्वर में कंपकपी लगना बंद हो जाती है | और बुखार ठीक हो जाता है |

कान के दर्द को ठीक करें

हींग को घी में सेंककर, अच्छे से पीसकर गर्म पानी में घोलकर दर्द वाली जगह पर लैंप करने से दर्द होना बंद हो जाता है |

खुजली को ख़त्म करें

  • दो चम्मच अजवाइन में दो ग्राम हींग, पानी डालकर पीसकर खुजली होने वाली जगह पर लगाएं |
    चमेली के 50 ग्राम तेल में दो चम्मच निम्बू का रस ज़रा-सा हींग व कपूर मिलाकर मालिश करने से खुजली में आराम मिलता है |
  • दाद पर हींग पानी या सिरके में घोलकर रोजाना दो बार लगाएं | जल्द ही फायदा होगा |
  • पित्ती हींग को घी में मिलाकर मालिश करने से लाभ होता है |

जोड़ों का दर्द दूर करें

लहसुन, सेंधा मानक और हींग सामान मात्र में लेकर चार गुना सरसों के तेल में डालकर उबालें | इनकी मालिश करने से जोड़ों का दर्द ठीक हो जाता है |

मानसिक तनाव , स्मरण शक्ति कमजोर होना

जरा सा हींग पानी में घोलकर सूंघे और गर्म पानी में घोलकर सेंधा नमक मिलाकर एक बार रोजाना पियें |

हिस्टेरिया

इसमें हींग सुघने से होश आ जाता है | चौथाई चम्मच हींग, तिन चम्मच पीसी मिश्री में मिलाकर रोजाना तिन बार खायें (फंकी लें)

Hing khane Ke Labh Or Gun

स्त्री रोग को दूर करे

मासिक धर्म अधिक, दर्दपूर्ण, श्वेत प्रदर, बांझपन, गर्भपात, समय से पहले प्रसव का दर्द आदि रोगों में हींग को घी में सेंक कर आधा Glass दूध में डालें और दो चम्मच शहद मिलाकर रोजाना तिन बार एक महीने तक पियें | यह प्रोजेस्टोने हार्मोन को उत्तेजित करता है |

सुप्रसव में दर्द काम करें

एक बाजरे के दाने के बराबर हींग जवां से गूढ़ में रखकर निगल जाएँ | पानी न पियें | शीग्र ही प्रसव बिना की दर्द के हो जायेगा | प्रसव होने के बाद हींग का सेवन गर्भाशय को शुद्ध करता है | एक चम्मच पीसी हुई अजवाइन, आधा चम्मच काला नमक, एक चने के बराबर हींग घी में भुनी हुऐ सबको मिलाकर पीस लें | यह चूर्ण चुटकी भर रोजाना सुबह-शाम चूसें | इससे गर्भाशय शुद्ध होकर सही स्थिति में संकुचित हो जायेगा | गर्भाशय बाहर आना ठीक होगा | पेटदर्द में भी लाभ होगा | (ke gun in hindi)

ह्रदय रोग दूर करेगा

  • हींग दुर्बल ह्रदय को शक्ति देता है | रक्त को जमने और थक्के जमने से रोकता है | खून का बहाव अच्छा बनायें रखता है |
  • अगर कोई जहर खालें तो हींग को पानी में घोलकर पिला दें | इससे उलटी होकर सार जहर बाहर आ जाता है |

ह्रदय रोग दूर करेगा

हींग दुर्बल ह्रदय को शक्ति देता है | रक्त को जमने और थक्के जमने से रोकता है | खून का बहाव अच्छा बनायें रखता है |

आवाज बैठना

जुकाम का पानी गले में गिरने या जलवायु में बदलाव होने से आवाज बैठ जाए तो आधा ग्राम हींग गर्म पानी में घोलकर गरारे करें, आवाज ठीक हो जाएगी |

जुकाम को दूर करने का उपाय

  • एक ग्राम हींग, पीसी हुई दस कालीमिर्च, दस ग्राम गूढ़ सबको मिलाकर सुबह-शाम खाएं, ऊपर से गर्म पानी पियें | इससे जुकाम ठीक हो जाता है |
  • हींग के घोल को सुघने से नाक में जमा रीत (कफ-श्लेमा) बाहर निकल जाता है और बदबू आना भी बंद हो जाती हैं, बंद नाक भी खुल जाता है |

निमोनिया को ठीक करे

बच्चों को निमोनिया होने पर थोड़ा सा हींग गर्म पानी में घोलकर पिलाने से फायदे होते हैं | कफ पतला होकर निकल जाता है | बदबू और कीटाणु ख़त्म हो जाते हैं | चने के बराबर हींग, 6 कली लहसुन पीसकर सरसों के तेल में गर्म करके सिने पर लगाएं

पसली का दर्द दूर करने का उपाय

एक मुनक्का का बिज निकालकर बिज के बराबर हींग रखकर खाकर गर्म पानी पियें | इस तरह तिन बार रोजाना लें | दर्द बंद होते ही ऐसे लेना बंद कर दें |

खांसी ठीक करेगा

  • Hing के लाभ >> हींग 5 ग्राम, मुलहठी और सौंठ 10-10 ग्राम सब पीसकर 20 ग्राम गूढ़ मिलाकर गोली बना लें | एक-एक गोली रोजाना तिन बार चूसने से खांसो ठीक हो जाती है |
  • हींग शरीर में जमी हुई हवा को शांत कर शरीर में जमें हुए कफ को बाहर निकालता है | अगर खांसी में कफ की घरघराहट हो तो जरा सा हींग थोड़े से गर्म पानी में घोलकर पिलाने से कफ पतला होकर निकल जाता है |

Low Blood Pressure को ख़त्म करें

इसमें हींग का सेवन फायदेमंद होता है | एक Glass पानी में अपने टेस्ट के हिसाब से नमक और जरा-सा हींग डालकर घोलकर तिन बार रोजाना पिने से फायदा होता है |
चने की एक दाल के बराबर हींग, दो ग्राम गूढ़ में लपेटकर रोजाना तिन बार खाकर पानी पियें | जल्द ही ब्लड प्रेशर नार्मल हो जायेगा |

शरीर ठंडा होना |

  • हैजा, तेज बुखार में कभी-कभी शरीर ठंडा हो जाता हैं | हींग गर्म पानी में घोलकर हथेलियों, पसलियों पर मलें | शरीर में गर्मी आएगी | ठंडापन दूर हो जाएगा | जरा सा हींग शहद में मिलाकर चाटें | ठंडा पसीना भी निकलना बंद हो जायेगा |
  • अफीम के विष प्रभाव – चार ग्राम हींग पानी या छाछ में घोलकर पिलाने से फायदा होता है
इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook, Twitter और Whatsapp Groups पर Share जरूर करें. Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करे.
loading...
error: Please Share This but dont Copy & Paste.