क्या होती है रचनात्मकता – Creativity Definition Essay in Hindi

What is power of creativity ?

creativity meaning in hindi

Definition of Creativity

सृजन में होना चाहिए शक्ति का प्रवाह

आजकल समझाया जाता है की creative बनें, जीवन में सृजनात्मक रहे | Hard और Non stop working में विश्वास करने वाली नई पीढ़ी पूछती है आखिर यह सृजन/creativity है क्या ? भौतिक संसार के शब्दों को पकड़ें तो सृजन को परिभाषा करना थोड़ा कठिन हैं | आध्यत्मिक शब्दावली को पकड़ें तो सृजन आसानी से समझ में आ जाएगा |

जो भी काम आप अपने आनंद के लिए कर रहे हों, जिस भी क्रिया से आपके आनंद का निर्माण होता हो, वह सृजन है | यदि आप अपने व्यवसाय में भी आनंद उठा रहे हैं तो समझ लें सृजन ही कर रहे हैं | आनंद को समझ लें, न ख़ुशी न गम इन दोनों से परें | सुख का विपरीत दुःख, प्रसन्नता का उदासी, लेकिन आनंद का कोई विपरीत नहीं है | वह पूर्ण है इसलिए जिसके परिणाम में आनंद जैसी पूर्णता हो, वही क्रिया सृजन कही जाएगी |

सृजन की वृत्ति का एक और फायदा है | सभी के भीतर एक स्वाभाविक शक्ति होती है | इस शक्ति का प्रवाह बाहर की और रहता है | यदि इस शक्ति का उपयोग सृजन करते हुए आनंद से नहीं जोड़ा गया तो यह विनाश, विकृती और अशांति की और बहना शुरू कर देगी |

इसलिए इस शक्ति को सृजन के लिए जरूर रखें | हम देखते हैं संतो के भीतर जो ब्रह्मचर्य घटता है इसके पीछे भी सृजन की वृत्ति होती है | जी जितना सृजनशील है, वह उतना ही क्रोध, काम, लोभ से मुक्त होगा | हमारी स्वाभाविक शक्ति जब सृजन में बदलती है तो वह शरीर और मन दोनों को शुद्ध भी कर जाती है | शुध्दता अध्यात्म का आवश्यक तत्व है |

इस शक्ति को बढ़ाने के लिए वह काम करें, जिसे करने से आपको आनंद मिलता हो | ऐसा काम जिसमें आप लीन हो जाते हो, इस तरह आनंद देने वाले कामो को करने से आपकी सृजनात्मक शक्ति बढ़ेगी और आपमें महानता आती जाएगी आप बिलकुल बदल जायेंगे |

Tag : creativity meaning in hindi with definition

error: Please Share This but dont Copy & Paste.