बलग़म वाली खांसी का आयुर्वेदिक इलाज और उपाय 5 सिरप दवा

बलगम वाली खांसी का इलाज सिरप और उपाय इन हिंदी में – खांसी फेफड़ो को थका देना वाला रोग होता है, खांस-खांस कर सीना दर्द करने लगता है. खांसी एक ऐसी बीमारी है जो छोटे रूप में शुरू होकर बड़े रोग का रूप धारण कर लेती है. इसलिए हमे इस बात से सचेत रहना चाहिए की खांसी कोई बड़ा रूप ले इससे पहले ही हम इसका घरेलु उपचार कर ख़त्म कर दें. कई लोग तो इसको ख़त्म करने के लिए बलग़मी खांसी की दवा का सेवन करते है, लेकिन यह पूरी तरह जड़ से आराम नहीं करती. इसलिए हम आपको जड़ से आराम देने वाले घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे बताने जा रहे है आइये जाने balgam khansi syrup treatment in Hindi भाषा में पूरी जानकारी.

पिछली बार हमने आपको बताया था की सूखी खांसी के कारण क्या होते हैं लक्षण क्या होते हैं और उसे किन-किन सरल घरेलू उपायों का उपयोग करके खत्म किया जा सकता है. हमने आप को इस बात से भी अवगत कराया था कि खांसी मुख्यता दो प्रकार की होती है.

सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी में फर्क यह होता है कि सूखी खांसी में बलगम नहीं आता है और बलगम वाली खांसी में खांसी के साथ-साथ पीला या सफेद बलगम भी आता है .

balgham wali khansi ka ilaj, balgam wali khansi ka gharelu upay

बलगम वाली खांसी के लक्षण

  • गले में दर्द होना
  • गले में खराश का अहसास होना
  • बोलने में परेशानी होना
  • पानी या कोई खाद्य पदार्थ निगलने में परेशानी होना
  • अत्यधिक खांसी आना
  • खांसी में बलगम ना आना
  • गले में सूजन आ जाना
  • किसी भी चीज के संपर्क में आते ही खांसी का बढ़ जाना
  • खांसी के साथ पीला बलगम आना
  • खांसी के साथ सफेद बलगम आना

बलगम की खांसी के कारण

  • धूल से संक्रमण के कारण
  • धुँए से संक्रमण के कारण
  • गले या फेफड़े कि किसी बीमारी के कारण
  • किसी एलर्जी के कारण
  • साइनस के इंफेक्शन के कारण
  • निमोनिया के कारण
  • गले में कुछ अटक जाने के कारण
  • गले में सूजन आ जाने के कारण
  • गले में श्वास नली में धूल या धुँए से संक्रमण होने के कारण

बलगम वाली खांसी का इलाज के घरेलु उपाय

Balgam Wali Khansi Ka Syrup Or Dawa in Hindi

  • बलगम वाली खांसी के लिए घरेलु इलाज में अदरक ले और उसके छिलके को हटा दें. अब इस अदरक से 1 मटर के बराबर टुकड़ा काट लें और इस टुकड़े को मुंह में रखकर चूसें . इससे बलगम आसानी से निकल जाता है.
  • आंवले को सुखाकर पीसकर चूर्ण बना लें और इसी तरह मुलेठी का भी चूर्ण बना लें. इन दोनों को मिलाकर रख लें और एक चम्मच दिन में दो बार खाली पेट इसका सेवन करें.
  • बहेड़ा वृक्ष की छाल का टुकड़ा ले और उसे अपने मुंह में रख लें. धीरे-धीरे इस टुकड़े को चूसते रहे. बलगम वाली खांसी में राहत मिलेगी.
  • घरेलु नुस्खे में आप लगभग एक चौथाई कप पुदीने का रस निकाल ले . भगोने में एक चौथाई कप पानी गर्म करें. दोनों को मिलाकर दिन में 3 बार इसका सेवन करें.
  • खांसी की बलग़म निकालने के लिए सिरप के रूप में लौंग का इस्तेमाल करे, थोड़ी सी लौंग को पानी में डालकर उबालें और इसे तब तक गर्म करें जब तक पानी आधा ना रह जाए. ऐसा करने पर यह एक काढ़े की तरह बन जाएगा जिसका आपको सेवन करना है.
  • थोड़े से तुलसी के पत्ते ले और उसका रस निकाल ले. करीब 4 से 5 चम्मच चीनी लेकर इस रस में मिलाएं. इसका शरबत बना लें और रोजाना एक चम्मच इसका सेवन करें. तुलसी का यह घरेलु उपाय बलगम को पतला कर देता है जिससे यह आसानी से निकल जाता है.
  • जितना ज्यादा हो सके केले और शहतूत का सेवन करें. केला और शहद दूध बलगम वाली खांसी में बहुत ज्यादा लाभदायक होता है.
  • 5 ग्राम मुलेठी का चूर्ण बना लें और उसे पानी में डालें. इस पानी को गर्म करें और उसे तब तक उबालें जब तक यह पानी आधा न रह जाए. इस मिश्रण का सुबह शाम दो बार सेवन करें. तुलसी के आयुर्वेदिक उपाय की तरह यह भी बलगम को पतला करने में सहायक होता, यह भी बलगम वाली खांसी की syrup के तरह काम आता है.
  • थोड़ी सी हल्दी पीस लें और उसे अजवाइन तथा सोंठ के साथ मिला ले . इस मिश्रण से एक चुटकी मिश्रण निकालकर शहद में मिलाकर इसका सेवन करें.
  • यदि आप बलगम को पतला करना चाहते हैं तो इसके लिए एक और उपाय है. थोड़ी सी राई सेंधा नमक और मिश्री को मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें. कफ आसानी से निकल जाएगा.
  • अमलतास का गूदा निकाल ले और गुड़ को पीसकर इस गूदे में मिला लें. अब इस मिश्रण की सुपारी के बराबर गोलियां बना लें और इसका गर्म पानी के साथ सेवन करें.
  • घरेलु उपचार में प्याज का रस निकाले और इसमें 10 ग्राम शक्कर मिलाकर इसका सेवन करें.
  • 10 ग्राम मैथीदाना, 50 ग्राम शक्कर, 100 ग्राम बादाम और 15 ग्राम काली मिर्च लेकर इन सब को एक साथ पीस लें. रोज रात को सोते समय एक चम्मच गर्म दूध के साथ फांक ले. यह खांसी ,बलगम, साइनोसाइटिस ,कब्ज आदि जैसी बीमारियों से तुरंत राहत दिलाता है इसीलिए यह बलग़मी खांसी का देसी इलाज में एक बेहतरीन नुस्खा है.
  • नीम की करीब 25 से 30 पत्तियों को पीस लें और इसमें थोड़ी सी काली मिर्च को पीसकर मिलाएं . अब इस मिश्रण का सेवन करें इससे खांसी ,कफ आदि में राहत मिलती है.
  • ब्राम्ही का छाती पर गर्म करके लेप करने से भी बलगम में राहत मिलती है. यह खांसी का बलगम निकालने के उपाय में अचूक है.
  • लगभग 10 मुनक्का 2 ग्राम कथ्य और 25 ग्राम मिश्री को पीसकर मुंह में रखिए. इससे भी दूषित कफ विकारों में लाभ होता है.
  • बलगम निकालने के लिए रुद्राक्ष को घिसने और उसे शहद में मिला लें. अब इसे हर 5 मिनट बाद चटाएं. ऐसा करने से आपको उल्टी आएगी जिससे बलगम निकल जाता है.
  • दिन में दो बार लौंग के तेल की कुछ बूंदें बताशे के साथ में लेने से बलगम में राहत मिलती है.
  • बलगम खांसी में सिरप – अंगूर का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए इससे फेफड़ों को शक्ति मिलती है लेकिन ध्यान रहे कि कभी भी अंगूर खाने के बाद पानी ना पिए.
  • थोड़ी सी ऐन की राख को शहद में मिलाकर खाए . इससे कफ पतला होकर निकल जाता.

बलगम वाली खांसी की दवा, बलगम वाली खांसी के लिए सिरप

बलगम खांसी के लिए पतंजलि का सिरप

दिव्य फार्मेसी स्वसारी प्रवाही यह पतंजलि का एक सिरप है जो सभी तरह की खांसी से छुटकारा दिलाने में अत्यंत सहयोगी होता है. आप इसको पतंजलि के स्टोर से खरीद कर ला सकते है. यह पूरी तरह जड़ी बूटियों से बना हुआ है व इसके प्रयोग से कोई नुकसान भी नहीं होता है. अगर आप बलगम की खांसी के लिए सिरप लेना ही चाहते है तो किसी अंग्रेजी दवा सिरप के बदले स्वदेशी पतंजलि के सिरप का ही प्रयोग करे.

वैसे आप इन घरेलु उपाय का प्रयोग करेंगे तो आपको सिरप लेने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी, क्योंकि यह नुस्खे घरेलु इलाज में बहुत असर करते है व एक खांसी के सिरप की तरह कारगर होते है. लेकिन अगर फिर भी बाजार से सिरप लेना ही चाहते है तो हम निचे कुछ अच्छी सिरुपस दवा का नाम दे रहे है, उनको मेडिकल से खरीद कर आप प्रयोग में ला सकते हैं.

  • MUCUS & PHLEGM PLUS COUGH CONTROL Syrup
  • Dabur Honitus
  • Baidyanath Bhringrajasava
  • Himani Fast Relief Herbal Cough And Cold Triple Action Syrup
  • Zandu Zefs Cough Syrup
  • Himalaya Koflet
  • Charak Kofol
  • Hamdard Joshina

तो यह थे बलगम वाली खांसी के घरेलू उपाय और सिरप balgam wali khansi ka ilaj in hindi इनका इस्तेमाल करके आप आसानी से इस बीमारी से निजात पा सकते हैं. इसके अलावा आप इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर कर सभी को जागरूक कराये, ताकि सभी घरेलु नुस्खों की मदद से आसानी से इसका घर पर ही छुटकारा कर दें.

Leave a Reply

error: Please Share This but dont Copy & Paste.