अदरक खाने के 51 फायदे | Ginger Benefits in Hindi Full List

loading...

Adarak Ginger Benefits In Hindi

ginger benefits in hindi adrak

Ginger Health benefits चाय बनाते समय अदरक डालकर बनाई गई चाय स्मरणशक्ति बढ़ाती हैं और साथ ही कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती हैं | जी मचलना और गर्भावस्था की उलटी रोकती हैं | अदरक चाय के स्वाद को भी बढ़ाती हैं |

पेट की जलन शांत कर पाचनशक्ति बढ़ाती हैं, इसके सेवन से श्वसन तंत्र साफ़ रहता हैं | मासिक धर्म के दर्द में भी आराम मिलता हैं | अदरक के और भी अनेक फायदे होते हैं – उनके नाम निचे दे रहे हैं adrak in hindi language.

adarak Pet me aethan mitane me fayde or labh deta hain, maleria bukhar fever, headache sir dard, sexual power sex karne ki shakti, yon shakti bhadhane ke liye, shukranuo ki sankhya, Dast, Kaan Dard, Purane Dast, Pechish, Raktshodhak khoon badhana, Fode Funsi, Pimples. Jyada Peshab Aana, Tansil dard, Masudon me dard, TB Khansi, Bawasir, Pet Ke Kidein, Dama, Lakwa, Munh Ki Badbu, Behosi, Dakar, Kabj, Sardi Jukam, Gathiya, Hraday Rog, Per dard, Ji Machalna, Acidity Problems, Nimonia, adarak Cuff me labhdayak hota hai, Apacha, Chakkar aana, Protest Cancer, Bhukh Badhaye, gala bethjana, khansi, khoon jamna, motapa weight loss in hindi ETC.

Adarak Khane Ke Fayde Labh

adarak khane ke fayde labh benefits

सावधानी

गर्मी का मौसम, प्रकृति के रोग खुजली, रक्त की उलटी, रक्त स्राव के रोगी, अदरक का सेवन कम से कम करें | अगर अदरक को खाने से किसी भी तरह का कोई नुकसान होता हो तो तुरंत अदरक खाना छोड़ दें | लम्बे समय तक लगातार अदरक का सेवन न करें | बिच बिच में अदरक का सेवन बंद करके खाते रहने से भी लाभ होते हैं | adarak ke khas achuk fayde jaaniye padiye yah puri jaankari.

अदरक खाने की मात्रा

अगर अदरक चबाकर खानी हो तो 1 मूंगफली की लम्बाई.मोटाई के बराबर मात्रा में 1 बार लें | कम से कम दो बार अदरक का सेवन करें द्य जरुरत के हिसाब से बच्चे व बड़ों के लिए मात्रा घटाई बढ़ाए | अदरक 1 बार में 10 से 20 ग्राम तक और रस 1.2 चम्मच से ज्यादा न लें |

पेट में एठन जैसा दर्द को ठीक करें

वायु इकट्ठी होने से दर्द होता हो तो पीसी हुई सोंठ 125 ग्राम गुड, 250 ग्राम सफेद तील सबकों कुटकर इनके छोटे -छोटे लड्डू बना लें, रोजाना एक लड्डू खाकर गर्म दुध पीयें वायु संबधित सभी दर्द ठीक हो जयेंगे ।

मलेरिया भुखार का नुस्खा

ginger khane k labh पीसी हुई सोंठ आधा चम्मच, पीसा हुआ धनिया 1 चम्मच, 20 नीम के पत्ते, 20 तुलसी के पत्ते सबको एक गिलास पानी में उबाले चौथाई पानी रह जाने पर छानकर पिएं। इस तरह बनाकर दिन में चार बार पियें। एक ही दिन में मलेरिया ठीक हो जाएगा, दोबारा बुखार नहीं आयेंगा।

सिर दर्द दूर करें (Headache-Sir Dard)

  • दूध या गर्म पानी में सोंठ पिसकर सिर पर लेप करें दर्द में लाभ होगा।
  • दालचीनी और सोंठ पर पानी डालकर ललाट पर लेप करने से सिर दर्द बंद हो जाता है।
  • सोठ पावडर सुंघने से छिंक आती है और जुकाम के कारण हुआ सिर दर्द ठीक हो जाता है।
  • आधे सिर का दर्द और सारे सिर का दर्द, गर्दन का दर्द, मांसपेषीयों का दर्द अगर अपच से पेट की गडबडी से उतपन्न हुआ हो तो सोंठ को पीसकर उसमें थोडा सा पानी डालकर लुगदी बना लें, इसे हल्का गर्म करें फिर दर्द वाले स्थान पर लेप करें शुरुआत में हल्की सी जलन मालूम होगी, दर्द जल्द ठीक हो जाएगा।

यौन शक्ति बढ़ाने के लिए (Sex Power Badhane Ke Liye)

अच्छा भोजन जैसे दाल, सब्जी, फल, दूध, दही, मक्खन, प्याज, लहसुन, अदरक आदि के खाने से वीर्य बनता हैं | खाई जाने वाली चीजों से पहले रस फिर रक्त इस तरह धातु परिवर्तन होते-होते अंत में वीर्य बनता हैं | मर्दाना शक्ति बढ़ाने के लिए अच्छा पौष्टिक संतुलित खाना ही लाभदायक होता हैं | इस भोजन का पाचन होने से वीर्य बनता हैं |

अगर पाचनशक्ति ख़राब हैं तो वीर्य नहीं बनेगा | अदरक पाचनशक्ति बढ़ाती हैं, यह गर्म होती हैं, इसलिए वीर्य बढ़ाती हैं | किसी भी रूप में चाय, सब्जी, चटनी, अचार में अदरक का सेवन करने से वह जल्दी पच जाता हैं | अदरक का नाम वृषण भी हैं द्य वृषण का अर्थ होता हैं साँड़ और साँड़ में सबसे ज्यादा यौनशक्ति होती हैं |अदरक के फायदे और लाभ

मर्दाना शक्तिवर्धक (Yon Shakti)

सामान मात्रा में अदरक और प्याज का रस निकालकर इसके 2 चम्मच रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर रोजाना सुबह भूखे पेट चाट लें | 2 महीने में यौनशक्ति बढ़ जाएगी | नामर्द भी मर्द बन जाएगा |

  • 2 चम्मच पीसी हुई सोंठ 50 ग्राम नारियल या तिल के तेल में डालकर उबालें | तेल उबलने पर तेल को ठंडा करके छान लें द्य नाभि के निचे से आधी जांघों तक सर्वत्र इस तेल की मालिश करें | इससे लिंग की जगह की मांस पेशियों को आराम मिलता हैं |

शुक्राणुओं

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए आधा चम्मच अदरक का रस रोजाना आधा कप पानी में मिलाकर पिएं | किसी तरह अदरक खाएं, महिलाएं जिनकी सेक्स करने की इच्छा कम हो गई हैं, इस प्रयोग से उनकी इच्छाएं बढ़ेंगी |

कान के दर्द को ख़त्म करे (Kan Dard Ka Ilaj)

आधा चम्मच सरसों के तेल में पांच बून्द अदरक का रस मिलाकर गर्म करें। फिर ठंडा करके हल्का सा गर्म रहने पर कान में डाले कान का दर्द ठीक होगा।

पुराने दस्त को बंद करना (Dast)

पुराने दस्त यानी लंबे समय से दस्त हो रहे हो तों सोंठ और गुड मिलाकर खाने से भी बहुत फायदे होते हैं। पुराने दस्तों में रोजाना सुबह-शाम कुछ सप्ताह तक यह लें।

सोंठ 100 ग्राम, सेंधा नमक 3 चम्मच, भुना हुआ जीरा 4 चम्मच इन सबकों अच्छे से पीस लें, खानें में अन्त में इसकी 1 चम्मच की फांकी ठण्डे पानी से लें या एक गिलास छाछ में घोल कर पीयें। इसी अनुपात में कम मात्रा में बना भी सकते हैं।

पेचिश को भी ठीक करता हैं

  • एक कप छाछ में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर पीने से मरोडदार दस्त पेचिश ठीक हो जाती है।

रक्तशोधक (खून साफ़ करता हैं)

अदरक के टुकड़े, अपने टेस्ट के हिसाब से नीबू का रस, नमक डालकर आधा कप आचार बना लें | भोजन के साथ यह अचार एक.एक चम्मच रोजाना खाएं | इससे खून शुद्ध होगा और फुंसियां नहीं निकलेंगी |

फोड़े फुंसियां होने पर (Fode Funsi)

गीली अदरक को अच्छे से घिसकर या पीसकर लगाने से फोड़े फूंसी ज़ल्द ही ठीक हो जाते हैं | ऐसे घिसकर गाँठो पर भी लगाया जाता हैं |

मुंहासे चेहरे की झुर्रियां (Pimple Ka Ilaj)

चहरे पर मुंहासे, दाग धब्बे, होने पर अदरक पीसकर गर्म करके रात को सोते समय चेहरे पर लैप करके सोयें सुबह चेहरा धोकर नारियल का तेल लगाएं | यह प्रयोग 15 दिन तक करें | चेहरा सुन्दर हो जायेगा,

नारियल का तेल और अदरक का रस चार – चार चम्मच मिलाकर इतना उबालें की तेल ही बच्चे यह तेल रोजाना सोते समय लगाएं, मुंहासे मीट जायेंगे |

दस्त, पेट दर्द अधिक प्यास लगना

समान मात्रा में पीसी हुई सोंठ और धनिया मिलाकर 4 चम्मच एक गिलास पानी में उबालकर आधा पानीे लेने पर छानकर ठंडा करके रोजाना 2 बार पीयें। तेज प्यास और इससे होने वाला पेट दर्द बंद हो जायेगा |

बहुमूत्र – ज्यादा पेशाब आने पर

पेशाब बार-बार और अधिक मात्रा में होता हो तो एक-एक चम्मच अदरक का रस और पीसी मिश्री या शक्कर 3 चम्मच आधा कप पानी में मिलाकर रोजाना 2 बार पीयें।

बार-बार पेशाब होने का कारण यकृत की कमजोरी होती हैं। इसके कारण पेशाब बार-बार जाना पडता है। पेशाब में जलन भी होती है। और गरीष्ठ चीजें तेल से बनी कम से कम खायें, आधा चम्मच सोंठ, एक कप दूध, आधा कप पानी उबालकर रोजाना दो बार पीयें। हर सब्जी में अदरक डालकर बनायें। इससे भी लाभ होगा।

टॉन्सिल में दर्द होना (Tansil Ka Dard)

  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच अदरक का रस, एक चम्मच शहद मिलाकर धीरे-धीरे स्वाद लेकर पीयें। जल्द दर्द दूर हो जायेगा।
  • एक चम्मच अदरक का रस, 2 चम्मच शहद में मिलकार रोजाना 3 बार चाटें।

मसूड़ों का दर्द ठीक करे

मसुडे फुल जाये तो आधा चम्मच सोंठ दिन में एक बार पानी के साथ पीयें। इससे दांत दर्द भी ठीक होगा।

एक चम्मच अदरक के टुकडे एक गिलास पानी में मिलाकर थोडा सा नमक मिलाकर पीयें। पानी छानकर रोजाना तीन बार कुल्ले करें मसुडे की मवाद दर्द सुजन दूर हो जायेगी।

Adarak Ke Fayde – अदरक के फायदे लाभ

हिचकी बंद करे (Hichki – Hiccups Remedy)

  • सोंठ और छोटी हरड़ आधा – आधा चम्मच एक कप गरम पानी में घोलकर पिने से हिचकी आना बंद हो जाती हैं |
  • सोंठ और शक्कर चीनी या बुरा सामान मात्रा में मिलाकर गर्म पानी से फंकी लेने से हिचकी बंद हो जाती हैं | आधा चम्मच सोंठ को पीसकर दूध में उबालकर पिने से भी हिचकी बंद हो जाती हैं |
  • सोंठ आंवला सुखा, पीपल सब सामान मात्र में पिसे हुए मिलाकर गर्म पानी से फंकी लें | जल्द लाभ होगा |
  • कागज़ की थैली या पॉलिथीन की थैली ले और एक मुंह पर रख लें और इसमें सांस छोड़ें और फिर इसी में लें | इस तरह सांस लेने और छोड़ने से रक्त में Carbon-Dioxide का Level बढ़ेगा | जिससे Hichkiyan बंद हो जाएंगी |

गैस को ख़त्म करे

जिनकों गैस बनने का पुराना रोग हो, वह सोंठ और हरड पीसी हुई समान मात्रा में मिलाकर 2 चम्मच पानी के साथ लें।

पीसी हुई सोंठ 2 चम्मच अपने टेस्ट के हिसाब से नमक मिलाकर गर्म पानी से रोजाना दिन में तीन बार आधा-आधा चम्मच खा लेने से गैस बनना बन्द हो जाता है।

आधा चम्मच सोंठ और मुंग के बराबर ही हींग गुड मिलाकर खायें, और गर्म पानी पीयें गैस कम हो जायेगी।

50 ग्राम पीसी सोंठ दो ग्राम हींग अपने टेस्ट के अनुसार काला नमक मिलाकर रखें, आधा चम्मच गर्म पानी से रोजाना दिन में तीन बार खायें।

श्वास रोग ठीक करे (Shwas Rog)

अदरक के बारीक-बारीक टुकडे करके देसी घी में घुनकर किसी साफ शीशी में रख लें इन टुकडों को एक-एक करके चुसने से श्वास की शिकायत नहीं होती, और साथ ही खासी का दौरा भी बंद हो जाता है।

हाथ-पैर सुन्न होना

सोंठ और लहसुन की एक-एक गांठ पानी डालकर पीस लें, जो अंग सुन्न हो उस पर इसका लेप करें , सुबह बिना कुछ खायें-पीयें, जरा सी सोंठ और लहसुन की दो कली चबायें यह प्रयोग दस दिन तक करें। लाभ होगा।

कमर दर्द का इलाज (Kamar Dard)सोंठ को मोटा कुट लें, एक चम्मच सोंठ, 2 कप पानी में डालकर उबालें जब पानी आधा बचे तब छान लें, इसे ठंडा करके इसमें 2 चम्मच देसी घी डालकर सोते समय 4 दिन तक पीयें।

दो टुकडे बिस्कुट के बराबर ग्वार पाठे के गुदे पर चौथाई चम्मच पीसी सोठ भुरकाकर एक चम्मच शहद डालकर रोजाना एक बार खायें। ग्वार पाठा का गुदा खाकर एक चम्मच शहद और चांट लें। कमर दर्द में लाभ होगा ।

गति से उल्टी होना (Bus Me Ulti Hona)

रोजाना 2 बार अदरक की चाय पीये, अदरक तेज गति वाले वाहन में यात्रा करने से होने वाली उल्टी, घबराहट चक्कर को भी रोकती है।

यात्रा करते वक्त ज्यादातर जी मचलने लगता है। सामान्यतः उल्टी हो जाती है। ऐसे में ताजा अदरक छीलकर उसका थोडा दूदा मुंह में रखकर हल्का सा चबाकर रस चुसें।

बच्चों के दस्त का इलाज

सोंठ और सौंप दोनों समान मात्रा में मिलाकर अच्छे से पिसकर छान लें इसकी आधा चम्मच एक कप पानी में डालकर इतना उबालें कि पानी आधा रह जायें। इस पानी को ठंडा होने पर तीन भाग करके रोजाना तीन बार पीयें। बच्चों के हरे पीले दस्त बन्द हो जायेंगे।

टीबी की खांसी (T.B Khansi)

चौथाई चम्मच पीसी हुई सोंठ, एक चम्मच शहद में मिलाकर हर 2 घंटे में 5 बार चुसने से टीबी की खांसी में फायदा होता है।

एक भाग पीसी हुई सोंठ, तीन भाग पीसी हुई हरड मिलाकर एक-एक चम्मच 3 बार गर्म पानी से लेने से टीबी की खांसी खत्म होती है।

बवासीर (Mal Samsya)

Piles Bawasir में मल पतला बिना जोर दिए आना चाहिए | अगर मल सख्त आता हैं, जोर देने से ही निकलता हैं तो गुड और सोंठ सामान मात्रा में मिलाकर 5 ग्राम रोजाना सुबह शाम खाएं, इससे मल की कठोरता सख्ती दूर हो जाएगी मल पतला बिना जो धिरे आएगा |

उल्टी होने पर (Ulti Hona)

शहद अदरक प्याज का रस सब समान मात्रा में मिलाकर और इसकी 2 चम्मच की एक मात्रा 2 चम्मच ठण्डे पानी में मिलाकर बार-बार पीलाने से उल्टी बन्द हो जाती है। हेजे की उल्टी में भी आराम मिलता है। इसे बिना शहद के भी ले सकते है।

कृमी (Pet Ke Kidein)

एक चम्मच अदरक का रस, एक कप गर्म पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से पेट के कीडे मर जाते है। adarak ke gun jaaniye

ठण्ड से ठिठुरन

ठण्ड में रहने से, ठंडे पानी से, नहाने से, तैरने से, शरीर में ठिठुरन हो, ठण्ड से शरीर कांप रहा होतो एक चम्मच सोंठ, एक चम्मच घी अपने टेस्ट के हिसाब से गुड डालकर गर्म करें और फिर उसे खाकर गर्म दूध पीयें। फिर रजाई कंबल ओडकर सो जायें सारी ठंडक निकल जायेगी।

दमा को ख़त्म करे

एक किलों अदरक को छीलकर कुटकर रस निकाले इसके रस में एक किलो चीनी मिलाकर धीमी-धीमी आग पर उबालें जब अच्छी तरह उबल जाये तब ठंडा करके बड़े मूंह की बोतल या बरनी में डाल लें। इसके 6 हिस्से करके एक हिस्सा रोजाना भूखें पेट खायें। दमा में लाभ होगा।

लकवा होने पर (Lakwa-Paralysis)

आधा किलों उडद की दाल पीसकर उसे घीं मे सेंके | उसमे गुड और 100 ग्राम सोंठ या अदरक पीसकर मिलाकर छोटे-छोटे लड्डू बनायें उसका एक लडू रोजाना खायें।

सोंठ और उडद उबालकर इसका पानी पीने से लकवा जल्द ही ठीक हो जाता है। परिक्षीत है।

मूंह में बदबू आना (Bed Smelling)

एक चम्मच अदरक का रस, एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर कुल्ले करने से मूंह की दूर्गंध दूर हो जाती है।

बेहोशी और सीने का दर्द |

2 चम्मच अदरक का रस, 2 चम्मच पीसी हुई मिश्री, और 1 कप गर्म पानी मिलाकर पीने से सीेने का दर्द दूर हो जाता है। ठण्डे पानी से मिलाकर पीने से बेहोषी दूर हो जाती है।

डकार आने पर

एक चम्मच अदरक का रस एक चौथाई काला नमक, आधा कप गर्म पानी मिलाकर सुबह-ंशाम पीने से खटटी कडवी डकारे आना बन्द हो जाती है।

कब्ज दूर करे (Kabj Ki Problems)

एक चम्मच अदरक के टुकडे गुड के साथ सुबह-शाम खाते रहें कब्ज दूर हो जायेगी इससे हरनिया में भी लाभ होता है।

पीसी हुई सोंठ 12 ग्राम मुलहटी 12 ग्राम गुलाब के सुखे फुल 6 ग्राम 1 गिलास पानी में उबालें आधा पानी रहने पर उतारकर ठण्डा होने पर छानकर रात को सोते समय पर पिएं कब्ज दूर हो जायेगी। आंतो को ताकत मिलगी और आंव भी दूर हो जायेंगी। अदरक खाने के बहुत से फायदे और लाभ होते हैं

एक चम्मच अदरक का रस, एक गिलास पानी, आधा निबू का रस मिलाकर पिने से आतों में जमा मल भी निकल जाता है।

जुकाम को ख़त्म करे (Sardi Jukam)

जुकाम लगते ही बेसन की पकोडी खायें, पकोडी में डाले जाने वाले मसालों में अदरक डालें, पकोडी खाने के बाद कम से कम आधा घंटा पानी नहीं पीयें। मौसम बदलने पर सर्दी जुकाम होती रहती है।

अगर नयी सर्दी होतो एक चम्मच देसी घीं को गर्म कर उसमे थोडी सी अदरक घुने फिर इसमें चार दाने काली मिर्च को दरदरी करके डालें, दो लोंग भी डालकर भुने फिर चुटकी भर नमक मिलाकर आंच से उतार लें। रात को इसे खाकर गर्म दूध पीले आराम होगा।

सोठ काली मिर्च और गुड पानी में डालकर उबालें जब चौथाई रह जाये तब सहता-सहता गर्म छानकर रोजाना दो बार पीयें फायदे होंगे। गले में ठण्डक खराश होने पर अदरक चुसें।

दस ग्राम अदरक पंद्रह तुलसी के पत्ते, दस काली मिर्च इन सबको कुटकर एक गिलास पानी में डालकर उबाले। उबलते हुए आधा पानी रहने पर छानकर रोजाना तीन बार पीने से जुकाम ठीक हो जाता है। इसी पानी से गरारे भी करें। ginger ke gharelu nuskhe or adarak ke gun.

भांग का नाश तोड़े

  • चौथाई चम्मच सोंठ 50 ग्राम दहीं में मिलाकर खाने से भांग का नशा उतर जाता है। अदरक के बेनिफिट्स

हदय रोग (Heart Problems)

आधा चम्मच पीसी सोंठ, दो कप पानी, जरा सा नमक डालकर उबालें, एक कप पानी रहने पर छानकर सुबह-शाम पियें इससे धडकन कम होना, दिल डूबता सा प्रतित होना, दिल की कमजोरी में लाभ होता है।

adarak se labh – हदय में दर्द होतो एक चम्मच अदरक का रास एक चम्मच शहद मिलाकर रोजान चाटने से दर्द दूर हो जाता है।

गठिया रोग (Gathia)

100 ग्राम अदरक का रस और 100 ग्राम तिल का तेल मिलाकर मंद-मंद आंच पर इतना गर्म करें कि रस जलकर केवल तेल रह जायें इस तेल से मालिष करने से गठिया का दर्द ठीक हो जाता है।

जोडों का दर्द (Per Dard)

एक चम्मच सोंठ आधा टुकडा जायफल दोनों को पीसकर तिल के तेल में मिलाकर इसमें कपडा भीगोकर इसमें जोडो पर पट्टी बाधने से दर्द दूर होता है।

सोंठ एक भाग और गुड दो भाग मिला लें इसकी एक-एक चम्मच रोजाना दो बार खाकर पानी पीयें। दर्द में फायदे होगे। adarak khane ke achuk fayde ki list.

जी मचलना (Ji Machalna)

एक Experiments के अनुसार अदरक का छोटा सा टुकडा लें, अदरक गर्भावस्था की आरंभिक अवस्था में और किमोथेरपी के बाद दवाई के रूप में असरदार होता है। इससे उबकाई दूर होती है। उपकाईयां उल्टी होने पर अदरक का सेवन किसी न किसी रूप् से किया जा सकता है।

अम्लपित्त ठीक करे (Acidity Problems)

सोंठ, मिश्री, आंवला समान मात्रा मे मिलाकर एक चम्मच दिन में तीन बार पानी से पिएं ।

छोटी हरड पीसी हुई और गुड समान मात्रा में मिला लें यह रोजाना खाने के बाद पानी पिएं ।
अम्लपित्त में फायदेमंद होती है। खाना खाने के बाद रोजाना 10 ग्राम गुड खायें।

समान मात्रा में सोंठ और धनिया पिस कर मिला लें इसकी तीन चम्मच एक गिलास पानी में उबालें जब चौथाई ग्लास पानी रहे तब उबालना बंद करके पानी छानकर पीने लायक रहने पर एक चम्मच शहद डालकर पीयें। अम्लपीत्त ठीक हो जायेंगा।

एक चम्मच अदरक का रस दो चम्मच निंबू का रस तीन चम्मच शहद और अपने टेस्ट के हिसाब से काला नमक मिलाकर खाना खाने के तत्काल बाद इस मिश्रण का सेवन करें। अम्लपीत्त में जल्द लाभ होगा।

निमोनिया (Nimonia Rog)

एक चम्मच अदरक का रस एक चम्मच घीं में मिलाकर सीने पर मालिष करें, अदरक का रस, शहद समान मात्रा में मिलाकर आधा- आधा चम्मच हर तीन घंटे से पीलायें इससे निमोनिया में लाभ होगा।

कफ ख़त्म करे

  • एक चम्मच अदरक के टुकडे उतने ही गुड के साथ खाने से कफ गिरना बंद हो जाता है।
  • एक चम्मचं सोठ, दो चम्मच शहद मिलाकर रोजाना दो बार चाटने से फेफडों में जमा कफ बाहर निकल जाता है।

आंव पेट का रोग (Anpacha Khana)

आंव यानि कच्चा, अनपचा खाना, यह लम्बे समय से पेट में रहता हैं तो अनेक रोग उत्पन्न होते हैं | पाचन संस्थान बिगड़ जाता हैं पेट के बहुत से रोग पैदा हो जाते हैं | ऐसे में रोजाना 2 चम्मच अदरक का रस सुबह भूखे पेट चबाते रहने से ठीक हो जाता हैं |

सोंठ पीसकर सामान मात्रा में गुड मिला लें | रोजाना मटर के दाने के सामान 2-2 गोली के बराबर सुबह.शाम खाएं आंव आना बंद हो जायेगा |

चक्कर आने पर

  • पीसी सोंठ एक चम्मचए 2 चम्मच बुराए 2 चम्मच घी तीनों को मिलाकर चाटें | यह एक खुराक हैं | तिन खुराक रोजाना लें |

प्रोटेस्ट केंसर (Protest Cancer Remedy)

आम और अदरक में ऐसे प्राकृतिक रसायन पाये जाते हैं जो प्रोटेस्ट केंसर से बचाव करते हैं |

प्रोटेस्ट केंसर से बचने और प्रोटेस्ट केंसर ग्रस्त रोगी आमरस में अपने टेस्ट के हिसाब से अदरक का रस मिलाकर पीया करें | आम और अदरक केंसर के प्रतिरोधी हैं |

भूख बढ़ाने के लिए (Bhukh Badhaye)

अदरक के छोटे.छोटे टुकड़े काटकर नीबू के रस में डाल दें और ऊपर से सादा नमक मिलाकर सूखा लें | यह भूख बढ़ाने के काम में आती हैं | खाने के बाद लेने से इससे जीभ भी साफ़ हो जाती हैं |

आधा चम्मच पीसी हुई सोंठ और गुड मिलाकर भोजन करने के बाद रोजाना सुबह शाम दो सप्ताह तक खाएं | पाचन से संक्रामक रोगों में जल्द ही लाभ होता और भूख तेज लगने लगेगी |

गाला बैठ जाने पर स्वरभंग (Gala BethJana)

सर्दी से गाला बैठ गया हो, आवाज नहीं निकलती हो तो अदरक के छोटे-छोटे टुकड़ों पर नमक डालकर खाएं | इससे आवाज साफ़ आएगी |

पीसी सोंठ और मिश्री सामान मात्र में मिलाकर आधा चम्मच एक चम्मच शहद में मिलाकर रोजाना चार बार चाटें | adrak ke swasthya fayde labh.

एक ग्लास पानी में 10 ग्राम अदरक के टुकड़े डालकर उबालकर छानकर गरारे और कुल्ले करें | फिर उबाले अदरक के टुकड़े दो लौंग अपने टेस्ट के हिसाब से नमक डालकर चबाएं रस चूसते जाएं | बैठा गला ठीक होकर आवाज साफ़ आएगी |

पेट में मरोड दर्द होतो

  • 10 ग्राम अदरक आग में भुनकर छीलकर खाने से पेट दर्द ठीक हो जाता है।
  • 2 चम्मच अदरक के रस में अपने टेस्ट के हिसाब से मिलाकर हर तीन घंटे मेे पीयें।
  • पेट में तेज दर्द गैस कब्ज अपज के कारण होतो दो चम्मच अदरक का रस और दो चम्मच अरण्डी का तेल मिलाकर सोते समय पियें, इसके बाद उपर से गर्म पानी भी पियें |

पित्ती की शिकायत

एक चम्मच अदरक का रस, एक चम्मच शहद मिलाकर रोजाना 3 बार लें, पित्ती में फायदा होगा।
पसली का दर्द

सोंठ तीन ग्राम कुटकर आधा किलों पानी में उबालकर छानकर चार पीयें पसली का दर्द ठीक हो जायेगा।

खांसी होने पर (Khansi Ka Nuskha)

खांसी, दमा चाय बनाते समय चाय में चने के बराबर 10 टुकडे अदरक के 20 तुलसी के पत्ते अल्प मात्रा में दालचीनी डालकर बनायें। ऐसी चाय रोजाना सुबह-शाम पीये इससे खासी सहित दमा में भी फायदा होगा।

सर्दी-खासी में अदरक वाली चाय पीने से भी लाभ होता है। खांसी होने पर कच्ची अदरक के टुकडों पर नमक डालकर चबायें और चुसें। खासी, जुकाम, बुखार में अदरक उबालकर रोजाना पीयें।

आधा चम्मच अदरक का रस, एक चम्चच शहद, दो चम्मच पानी मिलाकर रोजाना दो बार पियें, खासी, दमा, कफ में लाभ होगा। अदरक में नमक डालकर चबा-चबा कर रस चूसें।

आधासीसी का दर्द

  • सोठ को पानी के साथ घिसकर माथे पर लेप करने से आधा सीर का दूखना बंद हो जाता है। सूर्योदय के साथ घटता बडता है।

हदय की धमनियों में रक्त के थक्के जमना

health benefits of ginger अदरक रक्त के थक्के जमना रोकती है, Cholesterol कम करती है। High Blood Pressure को कम करती है। रक्त के थक्के जमने पर दो छोटी चम्मच अदरक के टुकडे सात दिन लगातार खायें। रक्त के थक्के पीघल जायेंगे। साथ ही दिल के दौरे की संभावना भी घटेगी। अदरक को किसी भी तरह रोजाना के भोजन में प्रयोग में जरूर लायें।

मोटापा कम करे

किसी भी तरह रोजना सोंठ का सेवन करते रहने से मोटापा नहीं बडता। पचास ग्राम पीसी हुई सोठ, 100 ग्राम गुड मिलाकर मटर के दाने के समान मोटी गोलियां बना लें, चार-चार गोली रोजाना चार बार खाने से मोटापा कम होता है।

सर्दी के रोग

अदरक के बहुत छोटे-छोटे टुकडे, आधा चम्मच एक गिलास पानी में डालकर इतन उबालें कि पानी आधा रह जायें। इसे छानकर अपने टेस्ट के हिसाब से दूध और शकर मिलाकर एक-एक चम्मच स्वाद लेते हुए पीयें। इससे जुकाम, कफ, खांसी, सिर, पसली, कमर दर्द में भी लाभ होगा। पसीना आयेगा शरीर हल्का हो जायेगा।

शरीर ठंडा पड़ने पर

  • दो भाग अदरक का रस और एक भाग लहसुन का रस मिलाकर बदन पर मालिश करें |

Viral Infections

वायरल इन्फेक्शन या रोग होने पर अदरक की चाय या पकाई गई चीज, सब्जी की प्लेट पर अदरक कुछ अच्छी मात्रा में डालकर खाएं | इससे वायरल इन्फेक्शन का प्रभाव ख़त्म हो जायेगा | adrak ke sevan se hone wale labh.

गुर्दे की पथरी

अदरक का रस 5 चम्मच 2 गिलास पानी में उबालकर कुछ ठंडा करके कपडा भिगोकर दर्द वाली जगह को दबाकर सेंक करें | इससे पथरी से होने वाले दर्द में आराम मिलेगा |

पेट दर्द का इलाज

पीसी हुई 1 चम्मच सोंठ और सेंधा नमक एक ग्लास पानी में गर्म करके पिने से पेट दर्द कब्ज अपच ठीक हो जाती हैं |
अगर भूखे पेट पानी पिने से पेट दर्द हो तो पीसी हुई सोंठ आधा चम्मच जरा से गुड में दो बार रोजाना मिलाकर खाएं | दर्द में आराम हो जायेगा |

adarak ke benefits तुलसी और अदरक का एक.एक चम्मच रस निकालकर गर्म कर लेंए हल्का गुनगुना होने पर पि लेंए पेटदर्द तुरंत ठीक होता हैं | in hindi language

एक चम्मच अदरक के रस में आधा चम्मच पीसी अजवाइन मिलाकर खाने से पेटदर्द में faydemand होता हैं |

पेट फूलना होए बदहजमी हो तो अदरक के टुकड़े देशी घी में सेंककर अपने टेस्ट के हिसाब से नमक डालकर रोजाना दो बार खाएं द्य इससे पेट के सामान्य सभी रोग थी हो जायेंगे |

अपच – खाना ठीक से न पचना

आधा किलो अदरक छीलकर छोटे-छोटे टुकड़े कर लें, इस पर अपने टेस्ट के हिसाब से नमक भर लें और नीबू का रस डालकर अच्छे से मिला लें | इनको छाया में एक बोतल में भरलें रोजाना खाना खाने से पहले आठ टुकड़े खालें | इससे पाचन शक्ति में लाभ होंगे |

अदरक और नीबू का अचार बनाकर रोजाना खाना खाने से पहले खाएं |
दिन में तिन बार अदरक का रस और नीबू आधा ग्लास पानी में अपने टेस्ट के हिसाब से नमक मिलाकर पिएं |

सोंठ आधा चम्मच 1 कप पानी में उबालकरए आधा ग्लास गर्म दूध में मिलाकर रात को सोते समय पिएं द्य आधा चम्मच सोंथे की गर्म पानी से फंकी भी लें सकते हैं |

सूजन बवासीर

  • सूजन बवासीर और पीलिया में 12 ग्राम सोंठ गुड के साथ लेने से लाभ होता हैं |

Kamar Dard

कमर दर्द जोडों का दर्द होने पर अदरक पीसकर दर्द वाली जगह पर लगायें। और 10 ग्राम अदरक को दो कप पानी में डालकर आधा पानी रहने पर छानकर पीयें । इस तरह सुबह-शाम लें जल्द लाभ होगा। adarak se hone wale fayde labh list.

थूकने की आदत

अदरक बार-बार चबाने से बार-बार थूकना बंद हो जाता है।

मानसिक तनावग्रस्थ व्यक्ति अदरक नियमित खायें।

नमस्ते दोस्तों हमसे Facebook पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे. हमारा Group Join करे और Page Like करे. "Facebook Group Join Now" "Facebook Page Like Now"
loading...
error: Please Share This but dont Copy & Paste.